Wednesday , May 22 2024

Budget Webinar: कोरोना टीकाकरण में पूरी दुनिया ने माना को-विन प्लेटफॉर्म का लोहा- पीएम मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज आम बजट-2022 में स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए किए गए प्रावधानों पर आयोजित एक वेबिनार को संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि, कोरोना टीकाकरण में को-विन जैसे डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से हमारी डिजिटल तकनीक का लोहा पूरी दुनिया ने माना है.

सीएम योगी की सुल्तानपुर रैली में दिखे बुलडोजर, स्टीकर पर लिखा- ‘बाबा का बुलडोजर’

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन कंज्यूमर और हेल्थकेयर प्रोवाइडर के बीच एक आसान इंटरफेस उपलब्ध कराता है. इससे देश में उपचार पाना और देना दोनों आसान हो जाएंगे.

वैक्सीनेशन मिशन के लिए देशवासियों को बधाई

पीएम मोदी ने कहा, सबसे पहले तो आप सभी को दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीनेशन मिशन को सफलतापूर्वक चलाने के लिए 130 करोड़ देशवासियों की तरफ से मैं बहुत बहुत बधाई देता हूं.

डिंपल यादव ने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य पर बोला हमला : कहा- इस बार सिराथू की बहू को जनता मौका देने वाली है

उन्होंने कहा,स्वच्छ भारत मिशन हो, फिट इंडिया मिशन हो, पोषण मिशन हो, मिशन इंद्रधनुष हो, आयुष्मान भारत हो, जल जीवन मिशन हो, ऐसे सभी मिशन को हमें ज्यादा से ज्यादा लोगों तक लेकर जाना है.

पीएम मोदी ने कहा, हमारा प्रयास है कि क्रिटिकल हेल्थकेयर सुविधाएं ब्लॉक स्तर पर हों, जिला स्तर पर हों, गांवों के नज़दीक हों. इस इंफ्रास्ट्रक्चर को मैंटेन करना और समय-समय पर अपग्रेड करना जरूरी है. इसके लिए प्राइवेट सेक्टर और दूसरे सेक्टर्स को भी ज्यादा ऊर्जा के साथ आगे आना होगा.

उन्होंने कहा,हम भारत में ऐसा हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर बनाना चाहते हैं, जो सिर्फ बड़े शहरों तक सीमित न हो. one health, one earth की स्प्रिरिट को हमें हिंदुस्तान में भी one India, one health के तहत दूर-दराज के क्षेत्र में भी समान स्वास्थ्य सेवाएं देनी हैं.

रूस-यूक्रेन के बीच खूनी जंग जारी : नाटो की भूमिका को लेकर जानें ये 5 बड़ी बातें

1.5 लाख हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स के निर्माण का काम जारी

पीएम मोदी ने कहा, प्राइमरी हेल्थकेयर नेटवर्क को सशक्त करने के लिए 1.5 लाख हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स के निर्माण का काम भी तेज़ी से चल रहा है. अभी तक 85,000 से अधिक सेंटर्स रुटीन चेकअप, वैक्सीनेशन और टेस्ट्स की सुविधा दे रहे हैं.

इस बार के बजट में इनमें मेन्टल हेल्थकेयर की सुविधा भी जोड़ी गई है. बेहतर पॉलिसी के साथ ही उनका इम्प्लीमेंटेशन भी बहुत आवश्यक होता है, इसके लिए जरूरी है कि ग्राउंड पर जो लोग पॉलिसी को उतारते हैं, उन पर ज्यादा ध्यान दिया जाए. इसलिए इस बजट में हमनें 2 लाख आंगनवाड़ियों को सक्षम आंगनवाड़ियों में अपग्रेड करके उन्हें और सशक्त बनाने का प्रावधान किया है.

रूस-यूक्रेन के बीच खूनी जंग जारी : नाटो की भूमिका को लेकर जानें ये 5 बड़ी बातें

पीएम ने कहा, जैसे-जैसे हेल्थ सर्विस की डिमांड बढ़ रही है, उसके अनुसार ही हम स्किल्ड हेल्थ प्रोफेशनल्स तैयार करने का भी प्रयास कर रहे हैं, इसलिए बजट में हेल्थ एजुकेशन और हेल्थकेयर से जुड़े ह्युमेन रिसोर्स डेवलपमेंट के लिए पिछले साल की तुलना में बड़ी वृद्धि की गई है.

ये भारत के क्वालिटी और affordable हेल्थकेयर सिस्टम की ग्लोबल access भी आसान बनाएगा. इससे मेडिकल टूरिज्म बढ़ेगा और देशवासियों के लिए income opportunities बढ़ेंगी.

गुजरात से आए प्रमुख लोगों ने अखिलेश यादव से की मुलाकात, PM मोदी के गुजरात मॉडल को बताया झूठ का मॉडल

Check Also

सीआईएसएफ जवान आज से संभालेंगे संसद की सुरक्षा का जिम्मा

केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) सोमवार यानी आज से संसद भवन की सुरक्षा संभाल लेगी। …