Saturday , May 25 2024

उत्तराखंड में बारिश बनी आफत, खबड़ावाला में बादल फटने से तबाही

देहरादून। पहाड़ी राज्य उत्तराखंड में बारिश आफत बनकर बरस रही है। दून समेत कई हिस्सों में तेज बारिश से लोगों की परेशानियां बढ़ गई है।

पीएम मोदी की ‘उज्जवला योजना 2.0’ लॉन्च, अब गैस कनेक्शन के लिए एड्रेस प्रूफ की जरूरत नहीं

खबड़ावाला में बदल फटा

बता दें कि, देर रात भी दून के संतला देवी मंदिर के पास खबड़ावाला में बदल फट गया। इसके अलावा आसपास के इलाकों में भी अतिवृष्टि हुई।

भारी बारिश से उफान पर नदी नाले

करीब तीन घंटे हुई भारी बारिश के कारण नदी, नाले उफान पर है इसके साथ कई पुस्ते बह गए। घरों में पानी घुसने के साथ ही कई जगह पेड़ और विद्युत पोल गिरने की भी सूचना है।

UP: उज्ज्वला 2.0 का आगाज, सीएम योगी ने लाभार्थियों से की बातचीत

जोशीमठ-मलारी हाईवे अभी भी बंद

वहीं, पहाड़ी क्षेत्रों में भूस्खलन के कारण मार्ग बार-बार बाधित हो रहे हैं। चमोली में जोशीमठ-मलारी हाईवे तमाम कोशिशों के बावजूद नहीं खुल पाया। पिछले 11 दिनों से यह मार्ग बंद है।

मौसम खराब होने के कारण हेलीकाप्टर भी उड़ान नहीं भर पा रहा है। इसके अलावा कुमाऊं में भी बारिश के कारण दिक्कतें बढ़ी हुई हैं।

दर्जन भर मार्गों में आवाजाही ठप

प्रदेशभर में चार दर्जन से अधिक मार्गों पर आवाजाही ठप है। मौसम विभाग ने अगले तीन दिन प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी दी है।

हेलीकाप्टर दिनभर उड़ान नहीं भर पाया

मंगलवार को चमोली में नीती घाटी के लिए हेलीकाप्टर दिनभर उड़ान नहीं भर पाया।

काबुल से श्री गुरुग्रंथ साहिब की तीन प्रतियां भारत पहुंचीं, हरदीप सिंह पुरी ने गुरुग्रंथ साहिब को किया रिसीव

हालांकि प्रशासन का दावा है कि, पैदल मार्ग से एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की मौजूदगी में ग्रामीणों की पैदल आवाजाही कराई जा रही है।

बीते दिन हेलीकाप्टर से नीती घाटी में एक फार्मेसिस्ट के साथ दवाएं भेजी गई हैं।

चीन सीमा से लगे इन गांवों में भी आवाजाही ठप

मलारी हाईवे बंद होने के कारण भारत-तिब्बत-चीन सीमा से लगे बांपा, गमशाली, नीती, फरकिया, कैलाशपुर, गुरगुटी, जुम्मा, कागा सहित दर्जनभर गांवों की आवाजाही नहीं हो पा रही है।

SC ने मोदी और योगी सरकार को दिया आदेश, कहा- 2 हफ्ते में किसान धरने का हल निकाले

सेना और आइटीबीपी के वाहनों की आवाजाही भी ठप पड़ी हुई है। देहरादून समेत आसपास के इलाकों में भी मंगलवार को तेज बारिश के दो से तीन दौर हुए।

घरों में घुसा मलबा, सड़कें तालाब में तब्दील

देर रात यहां बादल फटने से मलबा लोगों के घरों में घुस आया और सड़कें तालाब में तब्दील हो गई। घटना में जनहानि की कोई खबर नहीं है।

अखिलेश का बीजेपी पर वार, बोले- लोकतंत्र से ठगी करने की रणनीति बना रही है भाजपा

Check Also

बारिश से मची तबाही का ऐसा मंजर: 20 से अधिक घरों में घुस गया मलबा…

अल्मोड़ा के हवालबाग के चौसली में बारिश ने जमकर आफत मचाई। यहां 20 से अधिक …