Thursday , July 25 2024

जनता दरबार में सीएम योगी ने सुनी फरियाद

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर दौरे के दूसरे दिन गुरुवार की सुबह नित्य दिनचर्या के बाद गोरखनाथ मंदिर में जनता दरबार लगाया. सीएम ने लोगों की फरियाद सुनी और उन्हें कार्रवाई का भरोसा दिलाया. जनता दरबार में गोरखपुर सहित अन्य जिलों से करीब 100 से अधिक फरियादी आए थे.

सीएम ने सुनी समस्याएं, दिए निर्देश

सीएम योगी आदित्यनाथ एक-एक कर फरियादियों के पास गए. सबकी समस्या सुनने के साथ प्रार्थना पत्र लेकर अधिकारियों को कार्रवाई का निर्देश भी दिया. अधिकारियों से कहा कि, गोरखपुर मंडल के शिकायती पत्रों का निस्तारण वह जल्द करें. इसके अलावा अन्य जिलों की समस्याओं को लखनऊ के लिए दे दें.

भू-माफियाओं के खिलाफ सख्त दिखे सीएम योगी

जनता दरबार में भी सीएम योगी का तेवर भू-माफियाओं के खिलाफ काफी सख्त दिखा. आज भी सबसे अधिक शिकायतें पुलिस से और भूमि विवादों से जुड़ी थीं. जब सीएम एक-एक कर सभी की शिकायतें सुन रहे थे. तभी कैंट क्षेत्र के महादेव झारखंडी की महिला बिंदू देवी ने अपनी समस्या सीएम के सामने रखी. जिसमें ओमप्रकाश पांडेय के खिलाफ विभिन्न थानों में दर्ज मुकदमों का उल्लेख भी था.

सीएम बोले- गोरखपुर में भूमाफिया बचे हैं क्या?

महिला ने कहा कि, भू-माफिया ओमप्रकाश पांडेय और उसके सहयोगी तहसील कर्मचारियों की मिलीभगत से उनकी जमीन फर्जी तरीके से बेच दिए. वह पैसे भी नहीं दे रहा. इतना सुनते ही सीएम अधिकारियों की तरफ मुड़े और बोले की अभी भी गोरखपुर में भूमाफिया बचे हैं क्या? उनके इस सवाल पर मौजूद अधिकारी चुप हो गए.

इस पर मुख्यमंत्री ने तत्काल सख्त कार्रवाई करने को कहा. योगी ने कहा कि भूमि विवाद के मामलों पर गंभीर हो जाएं. भू-माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई तेज करते हुए उनसे सख्ती से निपटा जाए.

29 लाख की जमीन की फर्जी तरीके से करा ली रजिस्ट्री

एकला नंबर 2 गुलरिहा के रहने वाले झीनक ने सीएम को प्रार्थना पत्र देकर बताया कि, कुछ भू-माफिया दस्तावेज लेखक अधिवक्ता प्रशांत कुमार के सहयोग से उनकी करीब 29 लाख की जमीन का फर्जी ढंग से रजिस्ट्री करा लिया.

इस मामले में दर्ज मुकदमें में कैंट थाने के विवेचना अधिकारी अशोक मिश्रा ने अपने पूर्व विवेचना अधिकारी सुनील कुमार वर्मा द्वारा एकत्र साक्ष्यों को दरकिनार कर मामले में फाइनल रिपोर्ट लगा दी.

दर्जन मामलों पर सीएम योगी ने सख्त कार्रवाई के दिए निर्देश

उन्होंने सीएम योगी से मामले की फिर से विवेचना और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की. सीएम के सामने पहुंचे इस तरह के करीब आधा दर्जन मामलों पर सीएम योगी ने सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए.

सीएम योगी ने गुल्लू को दुलारा

इससे पहले मंदिर में मुख्यमंत्री की दिनचर्या परंपरागत रही. सुबह उन्होंने सबसे पहले नाथ पंथ के आदि गुरु गोरक्षनाथ के दरबार में हाजिरी लगाई और फिर अपने गुरु ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ के समाधि स्थल पर जाकर उनका आशीर्वाद लिया.

मंदिर परिसर का भ्रमण करने के क्रम में मुख्यमंत्री हमेशा की तरह गोशाला गए और करीब आधा घंटा गायों के बीच गुजारा. इस दौरान सीएम ने गायों को चना और गुड़ खिलाया. साथ ही मंदिर में सीएम योगी के स्वान कालू के नए साथी गुल्लू को भी सीएम ने दुलारा.

Check Also

यूपी: राहत के साथ आफत भी लेकर आई बारिश, बिजली गिरने से चार की मौत

पूरे यूपी में करीब-करीब मानसून छा गया है। लगातार बारिश होने से प्रदेश के ज्यादातर …