Friday , May 24 2024

MACCIA के कार्यक्रम में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने की शिरकत, कहा-नए युग में उद्यमियों की भूमिका अहम

नाशिक।  राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी दो दिवसीय दौरे पर नासिक पहुंचे, जहाँ उन्होंने शनिवार को कालिदास कला मंदिर में आयोजित महाराष्ट्र चेंबर्स ऑफ कॉमर्स, इंडस्ट्री एंड एग्रीकल्चर के स्वर्ण महोत्सव वर्ष के शुभारंभ समारोह में शिरकत की।

मीडिया समन्वयक संजय बलोदी “प्रखर “के अनुसार राज्यपाल ने MACCIA  (महाराष्ट्र  चेंबर ऑफ कॉमर्स ) के कार्यक्रम में अपने संबोधन में कहा कि महाराष्ट्र चेंबर्स ऑफ कॉमर्स, इंडस्ट्री एंड एग्रीकल्चर का स्वर्ण महोत्सव वर्ष और देश की स्वतंत्रता का अमृत महोत्सव एक अनूठा संयोग है। यह संयोग केवल नाशिक को ही नहीं, बल्कि पूरे देश के औद्योगिक क्षेत्र को स्वर्ण युग की ओर ले जाएगा। विकास के नए युग में प्रवेश करने के लिए औद्योगिक क्षेत्र की भूमिका अहम होगी। उद्यमियों द्वारा अपने विकास के साथ ही सामाजिक विकास में भी योगदान देना जरूरी है।

इस समय जिले के पालकमंत्री छगन भुजबल, राजस्व मंत्री बालासाहब थोरात, सांसद हेमंत गोडसे, उन्मेश पाटिल (जलगांव), विधायक देवयानी फरांदे, डॉ। राहुल आहेर, जिलाधिकारी गंगाथरन डी।, मनपा आयुक्त रमेश पवार, महाराष्ट्र चेंबर्स ऑफ कॉमर्स, इंडस्ट्री एंड एग्रीकल्चर के अध्यक्ष ललीत गांधी, उमेश दशरथी, सुधाकर देशमुख आदि उपस्थित थे। 

रत्न, बहुमूल्य स्टोन व  माणिकों के  संग्रहालय की प्रशंसा

राज्यपाल कोश्यारी ने कहा कि नाशिक का देवभूमि, यंत्रभूमि के रूप में विकास होते समय आर्थिक विकास का संकल्प इस अवसर पर हर एक को करना चाहिए। उद्यमी, जनप्रतिनिधि, प्रशासक के समन्वय से शाश्वत विकास की शुरुआत होगी। औद्योगिक क्षेत्र के विकास के लिए काम करने वाले कामगारों को आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराना जरूरी है। आज महिला भी हर क्षेत्र में अपना स्थान जमा रही है। ऐसे में चेंबर में महिलाओं को शामिल करना जरूरी है। इससे औद्योगिक विकास में मदद मिलेगी। समारोह का प्रास्ताविक करते हुए महाराष्ट्र चेंबर्स ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष गांधी ने 50 वर्ष में चेंबर्स ऑफ कॉमर्स द्वारा किए गए कार्यों की जानकारी दी। इस अवसर पर कई  लोगों को विकास रत्न के रूप में राज्यपाल के हाथों सम्मान किया गया।

बगैर प्रदूषण औद्योगिक विकास का करें संकल्प : छगन भुजबल

जिले के पालकमंत्री छगन भुजबल ने कहा कि देश के औद्योगिक विकास में महाराष्ट्र हमेशा अग्रसर राज्य रहा है। राज्य के औद्योगिक विकास में नाशिक का अहम योगदान है। औद्योगिक विकास के साथ पर्यावरण संतुलन के लिए पहल करना जरूरी है। बगैर प्रदूषण नाशिक में औद्योगिक विकास के लिए संकल्प करें। मासिआ अर्थात महाराष्ट्र चेंबर्स ऑफ कॉमर्स इंडस्ट्री ने आज तक औद्योगिक क्षेत्र में मसीहा के रूप में काम किया है। पिछले 50 साल में उत्तर महाराष्ट्र में औद्योगिक विकास के लिए कई उद्यमियों ने अपना योगदान दिया है। इसलिए आज का सुवर्ण महोत्सव इन सभी उद्यमियों का ऋणी है। मुंबई और पुणे की तर्ज पर नाशिक जिले का विकास कर जिले की आर्थिक शक्ति बढ़ाने के लिए प्रयास किए जाएंगे।

मासिआ कृषि संबंधित उद्योग करे शुरू : बालासाहब थोरात

राजस्व मंत्री बालासाहब थोरात ने कहा कि उत्तर महाराष्ट्र में औद्योगिक क्षेत्र को गति देने के लिए पोषक वातावरण और यातायात सुविधा होने से यहां पर उद्योग शुरू होने के अधिक अवसर हैं, जिसका उपयोग कर मासिआ ने यदि कृषि संबंधित उद्योग शुरू करने पर जोर दिया तो नाशिक देश में सबसे आगे रहेगा। नाशिक में अंगूर, प्याज, गन्ना, सोयाबीन, अनार आदि फसल का बड़े तौर पर उत्पादन होता है, जिसका उपयोग कर खुद का उद्योग-व्यवसाय शुरू करने के लिए नाशिकवासियों को अच्छा अवसर है। साथ ही समृद्धि महामार्ग के साथ एचएएल स्थित विमान सेवा शुरू होने से राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर औद्योगिक क्षेत्र में माल का लेन-देन करने के लिए एक बड़ा मंच उपलब्ध है। 

Check Also

चंडीगढ़: पंजाब-हरियाणा व चंडीगढ़ में बार एसोसिएशन के चुनाव आज

पंजाब, हरियाणा व चंडीगढ़ की अदालतों और पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के चुनाव में आज …