Monday , May 27 2024

मीट के अवैध कारोबार और गो तस्करों पर कड़ी कार्रवाई, अब मीट माफिया के निशाने पर एसएसपी मुरादाबाद

मुरादाबाद। मीट के अवैध कारोबार और गो तस्करों पर कड़ी कार्रवाई करने की वजह से मुरादाबाद के एसएसपी बबलू कुमार मीट माफिया की नजरों में चुभने लगे हैं। सूत्रों का कहना है कि मीट माफिया ने कप्तान का तबादला डालने के लिए मोटी रकम इकट्ठा की है। इस रकम का इस्तेमाल कप्तान के खिलाफ लॉबिंग में किया जा रहा है।

कर्नाटक के स्कूलों में मिड डे मील में मिलेगा अंडा! बीजेपी सरकार के फैसले का विपक्ष कर रहा विरोध

मीट सिंडिकेट सत्ताधारी दल के कुछ नेताओं और आरएसएस से ताल्लुक रखने वाले कुछ लोगों को साधकर कप्तान को हटवाने की भूमिका तैयार कर चुका है। मीट सिंडिकेट की कोशिश है कि इन नेताओं और कुछ साधुओं की मार्फत सीएम तक एसएसपी के खिलाफ लॉबिंग की जाए। इसकी डील करोड़ों रुपये में हुई है।

50 करोड़ रुपये महीने है मीट की अवैध मीट इंडस्ट्री का टर्नओवर

दरअसल मुरादाबाद में मीट के अवैध कारोबार का टर्नओवर करीब 50 करोड़ रुपये महीना है। लेकिन मुरादाबाद के एसएसपी बबलू कुमार  मीट सिंडिकेट के आड़े आ गए हैं। पिछले कुछ महीनों में मुरादाबाद पुलिस ने मीट माफिया पर कड़ी कार्रवाई की है। गोकशी करने वाले  कई लोगों पर एसएसपी ने गैंगस्टर के तहत कार्रवाई कराई तो कई मीट माफियाओं के खिलाफ जिलाबदर की कार्रवाई भी की गई है। इससे मीट माफिया कप्तान के पीछे पड़ गया है।

यूपी में काबू में कोरोना : 85.63% लोगों ने ली वैक्सीन की दोनों खुराक, सीएम योगी ने टीम-9 को दिए निर्देश

घरों और जंगलों में मीट का अवैध कटान होता है

दरअसल मुरादाबाद में सभी  स्लाटर हाउस पिछले करीब 8 सालों से बंद हैं। जिसकी वजह से यहां घरों और जंगलों में मीट का अवैध कटान होता है। इसके बाद इसकी सप्लाई दिल्ली और मुंबई तक की जाती है। मीट के इस अवैध कारोबार को मीट माफिया पुलिस और दूसरे विभाग से अंदरखाने सेटिंग करके चलाता है। लेकिन एसएसपी बबलू कुमार की तैनाती के बाद से मुरादाबाद में मीट माफिया का यह सिंडिकेट टूट चुका है।

कप्तान को हटाने का तानाबाना बुनना शुरू

मुरादाबाद जिले में मैनाठेर, कुंदरकी, गलशहीद, भोजपुर और कांठ थाने पशुओं के अवैध कटान के लिए बदनाम हैं। लेकिन एसएसपी बबलू कुमार की तैनाती के बाद से अवैध कटान और गोकशी की घटनाओं पर अंकुश लगा है। इससे बौखलाए मीट माफिया ने अब कप्तान को हटाने का तानाबाना बुनना शुरू कर दिया है। सूत्रों का कहना है कि मीट सिंडिकेट में शामिल लोगों ने अपनी हकीकत छुपाकर कुछ साधु संतों और आरएसएस के लोगों से भी नजदीकियां बढ़ा ली हैं। मीट सिंडिकेट ये नॉन मुस्लिम लोग आरएसएस में पैठ बनाने की जुगत में हैं।

जालियांवाला बाग हत्याकांड की 103 वीं बरसी : PM मोदी और CM योगी ने शहीदों को नमन कर दी श्रद्धांजलि

सूत्रों का कहना है कि कप्तान बबलू कुमार के तबादले में इसी मीट सिंडिकेट इसी नेटवर्क का इस्तेमाल कर रहा है। सूत्रों की मानें तो मीट माफिया अपनी इस साजिश में काफी हद तक कामयाब भी हो गए हैं और वह कप्तान के तबादले को लेकर आश्वस्त हैं। मुरादाबाद की मीट लॉबी कप्तान के तबादले को लेकर इस कदर आश्वस्त कि शनिवार को मुरादाबाद में मीट माफिया ने मिठाई भी बांट दी। मीट सिंडिकेट से जुड़े सूत्रों का कहना है कि आरएसएस से जुड़े कुछ साधुओं व नेताओं से मोटी डील डन हो चुकी है। आचार संहिता हटते ही पहले लिस्ट में आईपीएस बबलू कुमार से मुरादाबाद की कप्तानी छिन जाएगी।

Check Also

चंडीगढ़: पंजाब-हरियाणा व चंडीगढ़ में बार एसोसिएशन के चुनाव आज

पंजाब, हरियाणा व चंडीगढ़ की अदालतों और पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के चुनाव में आज …