Saturday , July 13 2024

Good Governance Day: गृह मंत्री अमित शाह बोले- मोदी सरकार ने स्वराज को सुराज में बदला

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर आयोजित ‘सुशासन दिवस’ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि, मोदी सरकार पर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं है. इसके साथ ही, गृह मंत्री ने कहा कि, मोदी सरकार ने स्वराज को सुराज में बदला.

कानपुर में इनकम टैक्स की रेड से जुड़ी बड़ी खबर : DGGI ने पीयूष जैन को हिरासत में लिया

130 करोड़ लोगों का टीकाकरण बड़ा काम

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि, मोदी सरकार हर वर्ग का ध्यान रख रही है और योजनाओं का फायदा आम लोगों को मिल रहा है. अमित शाह ने कहा कि, भारत में दूसरे देशों से बेहतर वैक्सीनेशन है. अस्पतालों को ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर बनाया. 130 करोड़ लोगों का टीकाकरण बड़ा काम है.

मोदी सरकार में अब देश बदल रहा है

उन्होंने कहा कि, कोरोना के खिलाफ सुरक्षा चक्र तैयार किया गया है. मोदी सरकार में अब देश बदल रहा है. इसके साथ ही, योजनाओं को पूरा करना अब सरकार की प्राथमिकता है. उन्होंने कहा कि पहले योजनाएं सिर्फ कागजों पर रह जाती थी. लेकिन अब लोगों को सस्ती दवाईयां मिल रही हैं.

Omicron: 17 राज्यों में ओमिक्रोन फैला, अब तक 415 मामले

70 साल में लोकतांत्रिक सिस्टम से लोगों का भरोसा उठा

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि, अटल आधुनिक भारत में सुशासन को सही अर्थ में जमीन पर उतारने का काम किया. 70 साल में हमारे लोकतांत्रिक सिस्टम से लोगों का भरोसा उठता जा रहा था क्यों​कि लोकतंत्र के सुफल तभी लोगों तक पहुंचते हैं जब स्वराज को सुराज में परिवर्तित करें. नरेंद्र मोदी ने लोगों की स्वराज को सुराज में बदलने की अपेक्षा को जमीन पर उतारने का काम किया.

पीएम मोदी ने 2 करोड़ से ज्यादा लोगों को घर दिए

अमित शाह ने कहा कि, पीएम मोदी ने 2 करोड़ से ज्यादा लोगों को घर दिए, हर घर में बिजली और शौचालय पहुंचाने का काम समाप्त हो चुका है. 2014 से पहले इस देश मे 60 करोड़ लोग ऐसे थे, जिनके परिवार में एक भी बैंक एकाउंट नहीं था, उसके घर में बिजली नहीं थी, किसी के पास घर ही नहीं था.

दिल्ली में कोरोना नियमों के उल्लंघन पर 163 FIR दर्ज, सरकार ने दो दिन में वसूला 1.5 करोड़ का जुर्माना

प्रशासन में टेक्नोलॉजी के उपयोग के जरिए सुशासन आ सकता है

10 करोड़ से ज्यादा परिवार ऐसे थे जिनके पास शौचालय ही नहीं था. मूलभूत समस्याओं के समाधान के लिए नीतियां और कार्यक्रम ऐसे बनाये गए, जिससे पूरी की पूरी समस्या जड़ से उखड़ जाए. टेक्नोलॉजी का उपयोग और नीतियों के निर्धारण और प्रशासन में टेक्नोलॉजी के उपयोग के माध्यम से ही सुशासन आ सकता है.

Check Also

29 जून का राशिफल: मिथुन और वृश्चिक राशि वालों को खर्चों पर करना होगा नियंत्रण

मेष दैनिक राशिफल (Aries Daily Horoscope) आज का दिन आपके लिए मिला-जुला रहने वाला है। …