Thursday , May 23 2024

लखीमपुर खीरी हिंसा मामला : इलाहाबाद HC में पत्र याचिका दाखिल, न्यायिक जांच की मांग

लखीमपुर खीरी। लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा का मामला अब इलाहाबाद हाईकोर्ट की दहलीज तक भी पहुंच गया है.

इलाहाबाद हाईकोर्ट में पत्र याचिका दाखिल

मामले की सीबीआई या फिर न्यायिक जांच कराने की मांग को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट में एक पत्र याचिका दाखिल की गई है.

किसानों और लखीमपुर खीरी प्रशासन के बीच समझौता, सभी मृतकों के परिजनों को 45-45 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी

न्यायिक जांच कराए जाने के आदेश दिए जाने की मांग

स्वदेश एनजीओ और प्रयागराज लीगल एड क्लीनिक की ओर से एक्टिंग चीफ जस्टिस एम एन भंडारी को भेजी गई लेटर पिटीशन में पूरे मामले की सीबीआई या न्यायिक जांच कराए जाने के आदेश दिए जाने की मांग की गई है.

सीबीआई जांच की हाईकोर्ट करें मॉनिटरिंग

साथ ही अपील की गई है कि, सीबीआई जांच होने की सूरत में हाईकोर्ट द्वारा जांच की मॉनिटरिंग भी हो. जनहित याचिका में किसानों की मौत को नरसंहार बताते हुए यूपी पुलिस के मुखिया डीजीपी को सस्पेंड करने की भी मांग की गई है.

लखीमपुर खीरी हिंसा में साधना प्लस न्यूज़ के रिपोर्टर रमन कश्यप की मौत, चैनल हेड बृजमोहन सिंह ने जताया दुख

अफसरों की भूमिका और लापरवाही की भी हो जांच

इसके साथ ही दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग की भी गई है. पत्र याचिका में कहा गया है कि, लखीमपुर से लेकर लखनऊ तक बैठे बड़े पुलिस अफसरों की भूमिका और लापरवाही की भी जांच की जानी चाहिए.

एडवोकेट गौरव द्विवेदी ने पत्र याचिका दाखिल की

क्योंकि इस घटना को लेकर इंटेलिजेंस की भी बड़ी चूक हुई है. संस्थाओं की ओर से एडवोकेट गौरव द्विवेदी ने यह पत्र याचिका दाखिल की है.

लखीमपुर खीरी हिंसा : केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा बोले- हिंसा के लिए राकेश टिकैत जिम्मेदार

अब अगर इलाहाबाद हाईकोर्ट पत्र याचिका को स्वीकार करती है, तो इस पर जनहित याचिका कायम कर मामले की सुनवाई कर सकती है. इस मामले में कोई आदेश भी पारित कर सकती है.

लखीमपुर खीरी में अबतक कुल 8 लोगों की मौत की पुष्टि

बता दें कि, लखीमपुर खीरी में अबतक कुल 8 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है. इनमें 4 की मौत गाड़ी चढ़ाने से जबकि बाकी बवाल में हुई है.

Lakhimpur Kheri Violence: लखीमपुर हिंसा पर बवाल, प्रियंका के बाद अखिलेश और शिवपाल यादव भी हिरासत में

कृषि कानूनों को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे किसान

किसानों का आरोप है कि, वो कृषि कानूनों को लेकर विरोध कर रहे थे तब केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा ने उन पर गाड़ी चढ़ा दी.

मंत्री के बेटे आशीष ने कहा- वो गाड़ी में नही थे

इस घटना के बाद प्रदेश ही नहीं देश भर में बवाल मचा हुआ है. वहीं मंत्री के बेटे आशीष का कहना है कि, वो गाड़ी में नही थे.

लखीमपुर खीरी हिंसा में अबतक 8 की मौत, हिरासत में दर्जनों नेता, जानें पूरा मामला

Check Also

काशी में 1200 छात्र-छात्राओं ने बनाई मानव श्रृंखला

लोकसभा चुनाव को लेकर छात्र- छात्राओं ने मतदाताओं को मतदान के लिए जागरूक करने के …