Tuesday , June 25 2024

केदारनाथ: सोनप्रयाग में बैरिकेडिंग तोड़कर निकला यात्रियों का सैलाब

केदारनाथ यात्रा के मुख्य पड़ाव सोनप्रयाग में यात्रियों की भीड़ सैलाब की तरह अनियंत्रित हो गई। गुप्तकाशी, फाटा से सोनप्रयाग पहुंचे यात्री, बैरीकेडिंग तोड़कर बाजार की तरफ बढ़ गए, जिन्हें नियंत्रित करने में प्रशासन और पुलिस के पसीने छूट गए। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहा है।

बता दें कि केदारनाथ यात्रा में पहले दिन से श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है। कपाट खुलने के बाद 10 दिन में ही दर्शनार्थियों की संख्या 2 लाख 81 हजार के पार पहुंच गई है। रविवार को केदारनाथ यात्रा के लिए सोनप्रयाग पहुंचे यात्रियों के सब्र का बांध टूट गया। यात्री पार्किंग से पहले स्थापित बैरीकेडिंग तोड़कर बाजार की तरफ आगे निकल पड़े। इस दौरान यात्रियों के सैलाब को रोकने में पुलिस, प्रशासन के सभी प्रयास धरे के धरे रह गए।

हजारों की संख्या में पहुंचे यात्रियों से पूरे सोनप्रयाग बाजार में मानव जाम की स्थिति पैदा हो गई। यह, स्थित सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में देखने को मिल रही है। इस दौरान वीडियो में एक व्यक्ति बता रहा है कि कैसे यात्री बैरीकेड तोड़कर आगे बढ़े और कैसे जाम जैसी स्थिति पैदा हुई।

वीडियो में कहा जा रहा है कि पुलिस भी इस भीड़ को नियंत्रित करने में नाकामयाब रही। व्यक्ति का कहना है कि जिस तरह से यह भीड़ केदारनाथ की तरफ बढ़ रही है, उससे किसी भी खतरे से इंकार नहीं किया जा सकता है। इधर, सोनप्रयाग में तैनात सेक्टर अधिकारी मनोज बिष्ट ने भी स्वीकार किया कि, सुबह के समय यात्रियों की भीड़ अनियंत्रित हुई थी, जिसे नियंत्रित करने में खासी मशक्कत करनी पड़ी और दोपहर बाद एक बजे स्थिति नियंत्रित हो पाई। उन्होंने बताया कि कपाट खुलने के दिन से ही बाबा केदार के दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ रही है।

रविवार को केदारनाथ में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ रही और कपाट खुलने के बाद एक दिन में सबसे अधिक 34893 श्रद्धालुओं ने बाबा केदार के दर्शन किए। धाम में अभी तक कुल 281713 श्रद्धालु दर्शन कर चुके हैं। रविवार को पूरे पैदल मार्ग पर सुबह से देर शाम तक भक्तों का जमावड़ा लगा रहा।

साथ धाम में भी भक्ति का सैलाब उमड़ा रहा। श्रीबदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के कार्यधिकारी रमेश चंद्र तिवारी ने बताया कि इस वर्ष आस्था का सैलाब अपने चरम पर है। भक्तों की उमड़ती भीड़ को देखते हुए सुबह से ही धर्म दर्शन सभामंडप से कराए जा रहे हैं।

Check Also

बरेली: रेलवे ने मथुरा-टनकपुर स्पेशल का संचालन बढ़ाया

कान्हा की नगरी के लिए चलने वाली मथुरा-टनकपुर-मथुरा स्पेशल ट्रेन दिसंबर तक चलती रहेगी। रेलवे …