Wednesday , June 19 2024

तालिबान एयरपोर्ट से हिरासत में ले लिया गया अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई का भाई

अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई के भाई महमूद करजई को तालिबानियों ने रविवार को हिरासत में ले लिया। तालिबान के प्रवक्ता ने बताया कि पूर्व अर्बन डेवलपमेंट एंड लैंड मिनिस्ट पर कानूनी मामलों के चलते विदेश जाने से रोक है। रिपोर्ट के मुताबिक, फ्लाइट पर सवार होने से ठीक पहले ही उन्हें हिरासत में ले लिया गया। महमूद करजई अफगानिस्तान के बड़े बिजनेसमैन में से एक हैं। 
 
तालिबान के प्रधानमंत्री कार्यालय से जुड़े एक शख्स ने नाम न बताने की शर्त पर यह जानकारी दी। उन्होंने बताया, ‘महमूद करजई को काबुल एयरपोर्ट से तालिबान की खुफिया सर्विस ने हिरासत में ले लिया। वह दुबई जाने वाली एरियाना एयरलाइन फ्लाइट पर सवार होने वाले थे।’ इस्लामिक अमीरात के डिप्टी प्रवक्ता बिलाल करीमी ने इसकी पुष्टि की कि महमूद करजई पर कानूनी मामलों के चलते अफगानिस्तान छोड़ने पर रोक है। इसी के चलते रविवार को उन्हें हिरासत में ले लिया गया।

हामिद करजई की टिप्पणी से आहत हैं तालिबानी’
सूत्रों का मानना ​​है कि महमूद करजई की नजरबंदी के पीछे का मकसद उनके भाई हामिद करजई की राजनीतिक टिप्पणी हो सकती है। बताया जा रहा है कि हामिद के बयानों से तालिबानी काफी आहत हुए हैं। मालूम हो कि हामिद करजई और अब्दुल्ला अब्दुल्ला अफगानिस्तान के दो बड़े नेता हैं, जो तालिबान की ओर से अफगानिस्तान पर नियंत्रण करने के बाद भी देश में बने रहे।

महिलाओं के अधिकारों को लेकर हामिद ने उठाई आवाज
दरअसल, पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई महिलाओं के अधिकारों पर अंकुश लगाने को लेकर तालिबान सरकार की आलोचना करते रहे हैं। साथ ही वह तालिबान से ‘समावेशी’ सरकार बनाने की मांग कर रहे हैं। उन्होंने राष्ट्रीय प्रतिरोधी बलों (NRF) और अफगानिस्तान के इस्लामी अमीरात के बीच पंजशीर में संघर्ष के लिए तालिबान को फटकार लगाई है। देश में बढ़ती हत्याओं के बीच उन्होंने कहा कि समय आ गया है कि जब रक्तपात बंद होना चाहिए।

Check Also

बंदूक की नोंक पर US सीक्रेट सर्विस एजेंट के साथ हुई लूटपाट

लॉस एंजिल्स में एक हाई-प्रोफाइल फंडरेजर के लिए राष्ट्रपति जो बाइडन शहर की यात्रा पर …