Saturday , July 13 2024

सपा की पहली लिस्ट पर बोले केशव प्रसाद मौर्य- अपराधियों और दंगाइयों का साथ नहीं छोड़ सकते अखिलेश

लखनऊ। देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में पहले चरण के विधानसभा चुनाव के लिए प्रक्रिया शुरू हो गई है। जिस वजह से राजनीतिक पार्टियों ने पूरा जोर लगा दिया है। वैसे तो बीजेपी ने अपने पत्ते अभी नहीं खोले, लेकिन समाजवादी पार्टी ने राष्ट्रीय लोक दल के साथ मिलकर अपनी पहली लिस्ट जारी कर दी।

समाजवादी पार्टी की साख पर बट्टा लगाने को ऐसे ही लोग काफी हैं! देखिए ये वीडियो

केशव प्रसाद मौर्य की प्रतिक्रिया आई सामने

जिसमें पश्चिमी यूपी से जुडे़ 29 उम्मीदवारों के नाम हैं। इस लिस्ट में कुछ नाम ऐसे हैं, जिन पर सवाल उठ रहे। इस पर अब यूपी के डिप्टी सीएम और बीजेपी के वरिष्ठ नेता केशव प्रसाद मौर्य की प्रतिक्रिया सामने आई है।

अपराधियों, दंगाइयों का साथ नहीं छोड़ सकते अखिलेश

केशव प्रसाद ने कहा कि, हाल ही में समाजवादी पार्टी की जो लिस्ट जारी हुई है, उसे देखकर मैं ही नहीं, बल्कि पूरा प्रदेश चौकन्ना हो गया है। 2017 से पहले जो पश्चिमी उत्तर प्रदेश की स्थिति थी, अब उसका ट्रेलर दिखाने का काम सपा ने पहली लिस्ट के जरिए किया है। वो अपराधियों, दंगाइयों का साथ नहीं छोड़ सकते, ये अखिलेश यादव का स्पष्ट संदेश है। समाजवादी पार्टी की सरकार बनाने का मतलब है कि फिर से दंगाराज और गुंडाराज प्रदेश में लाना।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपने जन्मदिन पर जारी की प्रत्याशियों की पहली सूची

डिप्टी सीएम ने आगे कहा कि, मैंने पूरी लिस्ट देखी, उसमें कई अपराधियों के नाम हैं। कुछ पर तो कई मुकदमे भी दर्ज हैं। मैं पूछना चाहता हूं कि अखिलेश इन अपराधियों को टिकट देकर क्या संदेश देना चाहते हैं। क्या आप फिर से मुजफ्फरनगर के दंगे की वापसी करेंगे। क्या फिर से कैराना में पलायन की स्थिति बनेगी।

अखिलेश ने संदेश दिया है कि, वो गुंडाराज वापस ला रहे हैं

केशव प्रसाद मौर्य के मुताबिक, अखिलेश ने अपनी लिस्ट के जरिए संदेश देने की कोशिश की है कि वो गुंडाराज वापस ला रहे हैं। बीजेपी सपा के इस चरित्र के खिलाफ अभियान चलाकार जनता तक संदेश पहुंचाएगी।

यूपी चुनाव: डा. संजयन त्रिपाठी और राम अवतार सिंह राजपूत ने ग्रहण की भाजपा की सदस्यता

Check Also

यूपी: राहत के साथ आफत भी लेकर आई बारिश, बिजली गिरने से चार की मौत

पूरे यूपी में करीब-करीब मानसून छा गया है। लगातार बारिश होने से प्रदेश के ज्यादातर …