Friday , June 14 2024

Sarva Pitri Amavasya: सर्वार्थसिद्धि योग में होगा सर्वपितृ श्राद्ध, 100 साल बाद बन रहा ये विशिष्ट संयोग

Sarva Pitri Amavasya 2021: पितृ पक्ष अब समाप्त होने वाला है. हिंदी पंचांग के अनुसार, पितृ पक्ष हर साल अश्विन मास के कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा तिथि से शुरू होता है जो कि अमावस्या को समाप्त होता है.

कन्या राशि में चतुर्ग्रही योग बन रहा

आश्विन मास की अमावस्या को सर्वपितृ अमावस्या का श्राद्ध किया जाता है. यह श्राद्ध 6 अक्टूबर 2021 को किया जायेगा. सर्वपितृ अमावस्या के दिन कन्या राशि में चतुर्ग्रही योग बन रहा है.

लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर विवादों में फंसे मंत्री अजय मिश्रा बोले- हर तरह की जांच के लिए तैयार

और बढ़ गया सर्व पितृ अमावस्या की श्राद्ध का महत्व

इसके अलावा इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग के साथ कुमार योग, गजछाया योग और चतुर्ग्रही योग भी बन रहा है. ऐसे में इस दिन की जानें वाली सर्व पितृ अमावस्या की श्राद्ध का महत्व और बढ़ गया है. सर्वपितृ अमावस्या को मोक्षदायिनी अमावस्या भी कहा जाता है.

100 साल बाद कौन सा संयोग बन रहा है?

हिंदी पंचांग के अनुसार, सर्वपितृ अमावस्या तिथि 5 अक्टूबर को शाम 7:05 बजे से प्रारंभ होगी, जोकि 6 अक्टूबर को शाम 4:35 बजे तक रहेगी. गजछाया योग 6 अक्टूबर 2021 को सूर्योदय से सांय 4:35 बजे तक विशेष रूप से रहेगा.

अयोध्या: पर्यटन मंत्री करेंगे रामलीला का शुभारंभ, फिल्म जगत की नामचीन हस्तियां अभिनय करते आएंगे नजर

इसके अलावा इस दिन सर्वार्थसिद्धि योग भी रहेगा. गणनाओं के अनुसार, 100 साल बाद सर्वार्थसिद्धि योग में अमावस्या रहेगी.

6 अक्टूबर को सर्वपितृ अमावस्या के दिन गजछाया योग

पंचांग के अनुसार, 6 अक्टूबर को सर्वपितृ अमावस्या के दिन गजछाया योग, सर्वार्थसिद्धि योग, चतुर्ग्रही योग सहित अन्य योग संयोगों में मनाई जाएगी.

फेसबुक-वाट्सएप और इंस्टाग्राम की सेवाएं बाधित होने से करोड़ों का नुकसान, अमीरों की लिस्ट में एक स्थान फिसलकर पांचवें नंबर पर आए जुकरबर्ग

पितरों को तर्पण करना श्रेष्ठ फलदायी होता है

धार्मिक मान्यता है कि, इस दिन श्राद्ध निकालने से पितरों का आशीर्वाद मिलने के साथ ही प्रगति और वैभव की विशेष वृद्धि होगी. ज्योतिषाचार्यों का मानना है कि, इस विशिष्ट संयोग में पितरों को तर्पण करना श्रेष्ठ फलदायी होता है.

Check Also

पंजाब: कनाडा में विद्यार्थी अब 40 नहीं 20 घंटे प्रति सप्ताह ही कर पाएंगे काम

कनाडा गए छात्र अब फुल टाइम वर्क नहीं कर पाएंगे। कोरोना के कारण प्रति सप्ताह …