Thursday , May 23 2024

अमेरिकी सेना ने पूरी तरह से छोड़ा अफगानिस्तान, राष्ट्रपति बाइडेन बोले- 20 साल लंबे युद्ध का अंत

नई दिल्ली। अफगानिस्तान (Afganistan) में अमेरिका (America) की 19 साल से अधिक समय की मौजूदगी का अंत हो गया है. अमेरिकी सेना के अंतिम तीन विमानों ने भी सोमवार की देर रात काबुल एयरपोर्ट (Kabul Airport) से उड़ान भरी.

पश्चिम बंगाल : तन्मय घोष की टीएमसी में घर वापसी, BJP पर लगाए आरोप

अफगानिस्तान में अमेरिकी सैन्य अभियान का अंत

रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमेरिकी सेना के अंतिम तीन सी-17 विमानों ने 30-31 अगस्त की आधी रात काबुल के हामिद करजई इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उड़ान भरी और इसके साथ ही अफगानिस्तान में अमेरिकी सैन्य अभियान का अंत हो गया.

अफगानिस्तान में 20 साल की सैन्य उपस्थिति समाप्त हुई

वहीं अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि, अब अफगानिस्तान में हमारी 20 साल की सैन्य उपस्थिति समाप्त हो गई है. मैं अपने कमांडरों को अफगानिस्तान से खतरनाक निकासी के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं. जैसा कि 31 अगस्त सुबह का समय निर्धारित किया गया था.

तालिबान की जीत: एयरपोर्ट पर कब्जा, आतंकियों ने जश्न में की ताबड़तोड़ फायरिंग

जो बाइडेन ने कहा कि, यूएन सिक्योरिटी काउंसिल का प्रस्ताव एक स्पष्ट संदेश भेजता है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय तालिबान से आगे बढ़ने की अपेक्षा करता है, विशेष रूप से यात्रा की स्वतंत्रता को लेकर.

कुपोषण से निपटने के लिए हजारों माताओं को मगज के लड्डू बंटवाएंगे- अमित शाह

तालिबान ने सुरक्षित मार्ग पर प्रतिबद्धता जताई है और दुनिया उन्हें अपनी प्रतिबद्धताओं पर कायम रखेगी.

अंतरराष्ट्रीय भागीदारों के साथ निरंतर समन्वय का नेतृत्व करें

राष्ट्रपति जो बाइडेन ने ये भी कहा कि, मैंने विदेश मंत्री से कहा है कि वे अपने अंतरराष्ट्रीय भागीदारों के साथ निरंतर समन्वय का नेतृत्व करें ताकि किसी भी अमेरिकी, अफगान भागीदारों और विदेशी नागरिकों के लिए सुरक्षित मार्ग सुनिश्चित किया जा सके जो अफगानिस्तान छोड़ना चाहते हैं. इसमें आज पारित यूएनएससी प्रस्ताव शामिल होगा.

अखिलेश यादव का BJP पर हमला, कहा- जनता त्राहि-त्राहि कर रही, बीजेपी उत्सवों में व्यस्त

युद्ध का अंत हो गया

समाचार एजेंसियों के मुताबिक, न्यूजवीक के संपादक नावीद जमाली ने ट्वीट कर कहा कि, युद्ध का अंत हो गया है, अंतिम विमान ने उड़ान भर ली है.

अफगानिस्तान में अमेरिका की मौजूदगी का अंत !

वहीं, सीएनएन के रिपोर्टर ने कहा कि, अमेरिका के अंतिम तीन सी-17 विमानों ने हामिद करजई इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उड़ान भर ली है. ये अफगानिस्तान में अमेरिका की मौजूदगी का अंत हो सकता है.

बंगाल में उपचुनाव कराने की मांग, चुनाव आयुक्त से मिलेगा TMC सांसदों का प्रतिनिधिमंडल

वहीं, आरटी के मुराद गजदिएव ने ट्वीट कर कहा युद्ध का अंत हो गया है. अमेरिका के बचे सैनिक अभी काबुल एयरपोर्ट से निकले हैं.

मुराद ने साथ ही ये भी कहा है कि, ये लड़ाई 19 साल 10 महीने और 25 दिन तक चली. अफगानी पत्रकार मासूम गजनवी ने काबुल एयरपोर्ट से निकलने की तैयारी करते अमेरिकी सैनिकों की फोटो पोस्ट कर इसे अपने देश पर कब्जे की अंतिम तस्वीर बताया.

UP में सर्वाधिक टीकाकरण, 62 जिलों में शून्य केस, 24 घंटे में मिले 21 नए मरीज

काबुल से अमेरिकी सैनिकों के निकलने के बाद तालिबानियों ने हवा में गोलियां दाग कर जीत का जश्न भी मनाया. गौरतलब है कि, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने पहले सितंबर, फिर 31 अगस्त तक अपनी सेना अफगानिस्तान से वापस बुला लेने का ऐलान किया था.

पेंटागन ने की पुष्टि

पेंटागन ने अमेरिकी सेना के अफगानिस्तान छोड़ने की पुष्टि की है. उम्मीद की जा रही थी अमेरिकी सेना अफगानिस्तान में फंसे लोगों को निकालने के लिए कुछ दिन और वहां रुक सकती है लेकिन ऐसा हुआ नहीं.

UP Cabinet Expansion: केंद्र की तरह योगी मंत्रिमंडल में भी जातीय-क्षेत्रीय संतुलन साधेगी सरकार, शामिल हो सकते ये सात चेहरे

तालिबान प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने भी अमेरिकी सेना के अफगानिस्तान छोड़ने की पुष्टि करते हुए ट्वीट कर इसे अफगानिस्तान के लिए आजादी बताया है.

महिलाओं को यूनिवर्सिटी तक शिक्षा की छूट

तालिबान के कार्यवाहक शिक्षा मंत्री ने कहा है कि महिलाओं को यूनिवर्सिटी स्तर तक की शिक्षा ग्रहण करने की छूट होगी लेकिन पुरुषों के साथ उनकी क्लास का संचालन नहीं हो सकेगा.

UP: काशी में रोपवे के पायलट प्रोजेक्ट को मिली हरी झंडी

अमेरिकी सेना की वापसी के ऐलान के बाद आक्रामक हुए तालिबान ने अफगानी फौज को शिकस्त देते हुए अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया था. अफगानिस्तान से सैनिकों की वापसी के लिए निर्धारित समय सीमा में अभी 24 घंटे बचे थे लेकिन अमेरिकी फौज ने पहले ही उड़ान भर ली.

Check Also

भारत पहुंचा कोरोना के केपी1 और केपी 2 वैरिएंट का संक्रमण

स्वास्थ्य मंत्रालय से जुड़े सूत्रों के अनुसार, केपी1 और केपी2 भी कोरोना के जेएन1 वैरिएंट …