Wednesday , May 22 2024

‘हर घर जल योजना’ के जरिए लोगों को रोजगार भी देगी UP सरकार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार अब सभी गांवों में हर घर जल योजना के जरिए पानी तो देगी ही इसके साथ ही ग्रामीण इलाकों के ज्यादातर लोगों को रोजगार भी उपलब्ध कराएगी.

प्रदेश भर में संविदा सहायक भर्ती किए जाएंगे

जानकारी के अनुसार, जलापूर्ति व्यवस्था के संचालन के लिए प्रदेश भर में 30 हजार से ज्यादा संविदा सहायक भर्ती किए जाएंगे. यही नहीं मेनटेनेंस की जिम्मेदारी संभालने वाली कंपनियां हर जिले में 400 से 500 स्थानीय युवाओं की भर्ती करेंगी.

ढाई हजार लोगों को वाटर ट्रीटमेंट प्लांटों पर मिलेगा रोजगार

इस योजना से युवाओं को अपने गांव और कस्बे में ही फिटर, प्लंबर, मकैनिक और सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी मिलेगी. बुंदेलखंड के 7 जिलों में ही 2500 से ज्यादा लोगों को वाटर ट्रीटमेंट प्लांटों पर सरकार रोजगार देने जा रही है।

केंद्र सरकार के सहयोग वाली हर घर नल योजना में वाटर ट्रीटमेंट प्लांअ के रख-रखाव और पेयजल आपूर्ति के संचालन के लिए फिटर, प्‍लंबर, मैकेनिक और सिक्योरिटी गार्ड रखे जाएंगे.

ग्रामीण इलाकों में बनाए जाएंगे ओवरहेड वाटर टैंक

राज्य पेय जल स्वच्छता मिशन के अधिकारियों के मुताबिक, ग्रामीण इलाकों में हर 4 से 5 किलोमीटर पर ओवरहेड वाटर टैंक बनाए जाएंगे, जिससे आसपास के गांवों में जलापूर्ति की जाएगी.

जलापूर्ति की ज्यादातर व्यवस्था सेंसर आधारित आटोमोड होगी, लेकिन सप्लाई सिस्टम की देखभाल और मरम्मत में रोजगार मिलेगा. 10 वर्षों तक जलापूर्ति व्यवस्था और ट्रीटमेंट प्लांट के देखभाल की जिम्मेदारी निर्माण कार्य करने वाली कंपनियों के हाथ होगी.

रोजगार से जुड़ेंगे ज्यादा से ज्यादा लोग

राज्य सरकार के निर्देश के मुताबिक, कंपनियां स्थानीय लोगों को भर्ती कर इसका संचालन करेंगी. राज्य पेयजल स्वच्छता मिशन के अधिशासी निदेश अखंड प्रताप सिंह के मुताबिक, बुंदेलखंड के 7 जिलों में ही इस योजना के जरिये ज्यादा से ज्यादा लोगों को रोजगार से सीधे जोड़ने जा रहे हैं.

फिटर, प्‍लंबर, मकैनिक और सिक्‍योरिटी गार्ड के तौर पर हर जिले में औसतन 400 से 500 लोगों को रोजगार से जोड़ा जा रहा है. योजना के आगे बढ़ने के साथ रोजगार का यह औसत पूरे प्रदेश में होगा. प्रदेश भर में 30 हजार से ज्यादा प्रत्यक्ष रोजगार सृजित होगा.

श्रमिकों के लिए करोड़ों की संख्या में रोजगार सृजन हो रहा

अप्रत्यक्ष तौर पर और श्रमिकों के लिए करोड़ों की संख्या में रोजगार सृजन हो रहा है. केवल बुंदेलखंड में यह आंकड़ा 3 करोड़ से ज्यादा है जबकि सोनभद्र और मिर्जापुर में 1.33 करोड़ मानव दिवस रोजगार का सृजन हो रहा है.

सभी गांवों में घर-घर पानी पहुंचाने की शुरुआत

पहले, दूसरे चरण में बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र में हर घर नल योजना पर काम कर रही राज्य सरकार तीसरे और चौथे चरण में प्रदेश के सभी गांवों में घर-घर पानी पहुंचाने की शुरुआत करने जा रही है. अधिकारियों के मुताबिक, प्रदेश भर में योजना के तहत 35 करोड़ मानव दिवस रोजगार श्रृजित होंगे.

Check Also

यूपी: अखिलेश यादव बोले- छठे चरण में भाजपा की छंटाई कर देगी जनता

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने संतकबीरनगर में आयोजित रैली की तस्वीरें सोशल मीडिया पर जारी …