Wednesday , May 22 2024

वाराणसी: भगवान राम का हुआ तुलसी सहस्त्रार्चन

सांस्कृतिक आयोजन देखने के लिए दर्शकों की भारी भीड़ मौजूद रही। इस दौरान भक्तों ने प्रभु श्रीराम के जयकारे लगाए।

राम तारक आंध्रा आश्रम में रामराज्य पट्टाभिषेक के तहत तुलसी सहस्त्रार्चन और कुमकुमार्चन के अनुष्ठान हुए। 21 ब्राह्मणों ने भगवान राम का सहस्त्र तुलसी अर्चन किया। वहीं, सुहागिन महिलाओं ने माता सीता का रोरी और कुमकुम से लक्ष कुमकुमार्चन किया। शनिवार को गंगा की लहरों पर भगवान राम की झांकी के साथ ही महोत्सव का समापन होगा।

मानसरोवर स्थित श्री राम तारका आंध्रा आश्रम में श्रीराम साम्राज्य पट्टाभिषेकम के 10वें दिन विविध अनुष्ठान हुए। शाम छह बजे से आश्रम के प्रांगण में अयोध्या में राममंदिर व रामलला का प्राण प्रतिष्ठा अनुष्ठान कराने वाले लक्ष्मीकांत दीक्षित का सम्मान किया गया। इसके बाद आश्रम प्रांगण में हंसिका ने गायन की प्रस्तुति दी। तबले पर कृष्ण कुमार उपाध्याय, हारमोनियम पर हर्षित उपाध्याय ने संगत की।

काशी हिंदू विश्वविद्यालय के संगीत एवं मंच कला संकाय के विद्यार्थियों ने भरतनाट्यम के जरिए नृत्य नाटिका प्रस्तुत किया। महिषासुर मर्दिनी की प्रस्तुति में कुमार, अमित कुमार गुप्ता, प्रमोद विश्वकर्मा, ईशा ने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस अवसर पर आश्रम के अध्यक्ष पीवीआर शर्मा, यू आर के मूर्ति, पूर्णम श्रीनिवास, रश्मि, वी वी सुंदर शास्त्री रहे। संचालन डॉ. बी. सत्यावर प्रसाद ने किया।

Check Also

उत्तराखंड: देशभर में लागू होंगे एक जुलाई से ये तीन नए कानून

एक जुलाई से लागू होने वाले तीन नए कानून को लेकर उत्तराखंड की पूरी तैयारी …