Friday , April 19 2024

पीएम मोदी ने केरल के भाजपा कार्यकर्ताओं से किया संवाद…

पीएम ने कार्यकर्ताओं से मतदाताओं को यह बताने के लिए कहा कि राज्य में सत्तारूढ़ एलडीएफ और विपक्षी यूडीएफ गठबंधन दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों गठबंधन जो आईएनडीआईए का हिस्सा हैं केरल में विरोधी होने का नाटक कर रहे हैं। वहीं केरल के बाहर दोनों भाजपा के विरोध में मिलकर काम कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को नमो एप के माध्यम से केरल में भाजपा के बूथ कार्यकर्ताओं से संवाद किया। पीएम ने बूथ अध्यक्षों से फीडबैक लिया कि आइएनडीआइए के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों के बारे में जनता क्या सोचती है। उन्होंने कार्यकर्ताओं को मतदाताओं का दिल जीतने के लिए मार्गदर्शन दिया।

पीएम ने कार्यकर्ताओं से मतदाताओं को यह बताने के लिए कहा कि राज्य में सत्तारूढ़ एलडीएफ और विपक्षी यूडीएफ गठबंधन दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों गठबंधन जो आईएनडीआईए का हिस्सा हैं केरल में विरोधी होने का नाटक कर रहे हैं। वहीं, केरल के बाहर दोनों भाजपा के विरोध में मिलकर काम कर रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा, वे एक-दूसरे के गलत कामों को छिपाने के लिए काम कर रहे हैं। यही खेल वे केरल में खेल रहे हैं। केरल के लोग शिक्षित हैं, उन्हें इस बारे में बताएं। पलक्कड क्षेत्र के बूथ अध्यक्ष ने पीएम को बताया कि कि कई कांग्रेस कार्यकर्ता इस बात से नाखुश है कि वायनाड निर्वाचन क्षेत्र से एलडीएफ उम्मीदवार – एनी राजा – राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ रही हैं। वहीं, राष्ट्रीय स्तर पर उनकी पार्टी राहुल का समर्थन कर रही है। इस असंतोष से भाजपा को लाभ होगा।

पीएम ने करुवन्नूर सहकारी बैंक धोखाधड़ी मामले का जिक्र करते हुए आरोप लगाया कि इसमें बड़े कम्युनिस्ट नेता शामिल थे। उन्होंने कहा, मैं केरल के लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि ऐसे घोटालों में शामिल लोग जो जनता को लूट रहे हैं, बच नहीं पाएंगे। उन्हें कड़ी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा। ‘मेरा बूथ मजबूत’ कार्यक्रम के तहत पीएम ने कार्यकर्ताओं से कहा कि वे राजग के सभी कार्यकर्ताओं के बीच बूथ स्तर पर समन्वय सुनिश्चित करें।

पीएम ने लोकसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ताओं द्वारा की जा रही मेहनत की सराहना की। कहा कि केरल में भाजपा कार्यकर्ताओं के संघर्ष की तुलना नहीं की जा सकती। ऐसे अनुशासित, बलिदानी कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत ने उन्हें प्रेरित किया है। केरल में 26 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के लिए मतदान होगा। पूरे देश में मतगणना चार जून को होगी।

बूथ कार्यकर्ताओं को मोदी मंत्र

पीएम मोदी ने बूथ कार्यकर्ताओं को लेकर कहा, “बूथ स्तर पर ”टिफिन बैठकें” करें। इसके तहत दो या तीन बूथों के कार्यकर्ता एक साथ आकर साथ भोजन कर सकते हैं। इस दौरान अपने-अपने क्षेत्रों में राजनीतिक स्थिति पर चर्चा कर सकते हैं।

उन्होंने कहा, “प्रत्येक कार्यकर्ता बूथ स्तर पर कुछ परिवारों की जिम्मेदारी संभाले। उन्हें भाजपा के लिए वोट करने के लिए प्रेरित करने के लिए उनके साथ निकटता से जुड़ें। बूथ स्तर पर केंद्रीय योजनाओं के लाभार्थियों की सूची तैयार करें। लोगों से मुलाकात करें और उन्हें राज्य के राजनीतिक परि²श्य के बारे में बताएं।

Check Also

सुप्रीम कोर्ट ने ओटीटी प्लेटफॉर्म पर लिया फैसला

सुप्रीम कोर्टे ने आज शुक्रवार को उन याचिकाकर्ताओं पर फैसला लिया, जिन्होंने ओटीटी प्लेटफॉर्म पर …