Friday , April 19 2024

लोकसभा चुनाव 2024: चुनाव प्रचार के लिए अमित शाह 7 अप्रैल को जाएंगे त्रिपुरा

लोकसभा चुनाव को लेकर पार्टियों ने अपनी कमर कस ली है। उम्मीदवारों की घोषणा हो या स्टार प्रचारकों की लिस्ट हो सभी पार्टियां एक-एक कर इसकी घोषणा कर रही है। इस बीच बीजेपी ने भी त्रिपुरा के लिए प्रचारकों की सूची जारी कर दी है। जिसमें केंद्रीय गृह मंत्री शाह भी शामिल हैं। इसके तहत ही शाह चुनाव प्रचार के लिए पूर्वोत्तर राज्यों का दौरा करने के लिए तैयार हैं।

देश में लोकसभा चुनाव से पहले, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह चुनाव प्रचार के लिए पूर्वोत्तर राज्यों का दौरा करने के लिए तैयार हैं। चुनाव की घोषणा के बाद क्षेत्र में अभियान शुरू करने वाले वह पहले शीर्ष भाजपा नेता होंगे।

भाजपा सूत्रों ने शुक्रवार को कहा कि गृह मंत्री शाह छह अप्रैल को अरुणाचल प्रदेश के पश्चिम सियांग जिले के आलो में एक चुनावी रैली को संबोधित करेंगे और चुनाव संबंधी मामलों पर चर्चा के लिए राज्य भाजपा नेताओं के साथ बैठक करेंगे।

8 अप्रैल को राज्य के पार्टी नेताओं के साथ करेंगे बैठक
अरुणाचल प्रदेश का दौरा करने के बाद गृह मंत्री 7 अप्रैल को 2 दिवसीय चुनाव प्रचार के लिए त्रिपुरा पहुंचेंगे। वहां वह अगरतला में रोड शो करेंगे और चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे। 8 अप्रैल को राज्य छोड़ने से पहले शाह राज्य के पार्टी नेताओं के साथ एक अहम बैठक करेंगे।

बता दें कि त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक साहा ने गुरुवार रात पार्टी नेताओं के साथ बैठक की, जिसमें उन्होंने राज्य में गृह मंत्री के आगामी दौरे पर चर्चा की। अमित शाह असम समेत अन्य पूर्वोत्तर राज्यों में बीजेपी के प्रचार अभियान में भी शामिल होंगे।

ये नेता भी कर सकते हैं पूर्वोत्तर राज्यों का दौरा
गृह मंत्री के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, शरबानंद सनवाल, पीयूष गोयल, अर्जुन मुंडा और हेमा मालिनी समेत कई केंद्रीय नेता और सांसद क्षेत्र में प्रचार के लिए पूर्वोत्तर राज्यों का दौरा कर सकते हैं। असम राज्य भाजपा के अनुसार, केंद्रीय गृह मंत्री काजीरंगा संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले लखीमपुर और होजई में दो चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे।

Check Also

सुप्रीम कोर्ट ने ओटीटी प्लेटफॉर्म पर लिया फैसला

सुप्रीम कोर्टे ने आज शुक्रवार को उन याचिकाकर्ताओं पर फैसला लिया, जिन्होंने ओटीटी प्लेटफॉर्म पर …