Friday , June 21 2024

गोरखनाथ मेले में श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए प्रशासन ने स्पेशन ट्रेनों के संचालन का लिया निर्णय, जानें ..

मकर संक्रांति पर्व पर गोरखनाथ मेला में जुटने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा को लेकर महाप्रबंधक चन्द्र वीर रमण की अध्यक्षता में पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन की बैठक हुई। सभागार में आयोजित बैठक में महाप्रबंधक ने अधिकारियों को पूर्वांचल के विभिन्न जनपदों व पड़ोसी देश नेपाल से बड़ी संख्या में आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा का प्रबंधन करने को निर्देशित किया। साथ ही 13 से 16 जनवरी तक गोरखपुर से बढ़नी और नौतनवा के बीच दो जोड़ी मेला स्पेशल ट्रेन के संचालन पर मुहर लगाई।

पैसेंजर ट्रेनों में लगाए जाएंगे अतिरिक्त कोच

स्पेशल ट्रेन चलाने के अलावा मेला अवधि में गोरखपुर से नरकटियागंज और सीवान के बीच चल रही छह जोड़ी पैसेंजर ट्रेनों में अतिरिक्त कोच लगाए जाएंगे। 12531/12532 गोरखपुर-लखनऊ जंक्शन इंटरसिटी को मगहर तथा 15069/15070 गोरखपुर-ऐशबाग एक्सप्रेस को नकहा जंगल स्टेशन पर अतिरिक्त ठहराव प्रदान किया जाएगा। गोरखपुर स्टेशन पर स्वास्थ्य कैंप व एंबुलेंस की व्यवस्था रहेगी। बैठक में अपर महाप्रबंधक अनिल कुमार मिश्र, प्रमुख मुख्य इंजीनियर रंजन यादव, प्रमुख मुख्य विद्युत इंजीनियर एके शुक्ल, प्रमुख मुख्य परिचालन प्रबंधक संजय त्रिपाठी आदि थे।

11 घंटे की देरी से पहुंची गोरखधाम चौरीचौरा एक्सप्रेस भी चार घंटे लेट

कोहरे में ट्रेनों के पहिये थमने लगे हैं। मंगलवार को 12555 गोरखधाम एक्सप्रेस लगभग 11 घंटे की देरी से गोरखपुर पहुंची। 12556 वैशाली एक्सप्रेस भी करीब आठ घंटे विलंब से आई। यात्रियों का पूरा दिन ट्रेन में ही बीत गया। गोरखधाम एक्सप्रेस में पेंट्रीकार नहीं होने से लोगों को खानपान को लेकर मुश्किलों का सामना करना पड़ा। ठंड में भूखे-प्यासे लोग सुबह की बजाय रात को घर पहुंचे। गोरखधाम एक्प्रेस के लेट होने की वजह से रात 11.20 बजे के आसपास रवाना होने वाली ट्रेन चार घंटे विलंबित हो गई।

रात भर ठिठुरते रहे यात्री

यात्री रात भर स्टेशन पर ठिठुरते रहे। हालांकि रेलवे ने सतर्कता बरतते हुए एक दिसंबर से ही 28 एक्सप्रेस और 14 पैसेंजर ट्रेनों को निरस्त किया है, लेकिन पहली बार कोहरे ने ट्रेनों के संचालन को प्रभावित किया है। गोरखधाम, वैशाली और चौरी चौरा ही नहीं दिल्ली-लखनऊ-गोरखपुर-नरकटियागंज रूट पर चलने वाली करीब सभी ट्रेनें दो से 12 घंटे तक विलंबित हुईं। 15212 जननायक एक्सप्रेस 07.12 घंटे, 19038 बांद्रा एक्सप्रेस पांच घंटे, 15909 अवध-असम एक्सप्रेस 03.30 घंटे, 15532 सहरसा जनसाधारण एक्सप्रेस चार घंटे की देरी से चल रहीं थीं। यात्रियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

Check Also

महाराष्ट्र: बेटी को साथ लेकर कुएं में कूदी महिला

महाराष्ट्र के लातूर जिले में एक महिला ने अपनी बेटी के साथ कुएं में कूदकर …