Wednesday , June 19 2024

रेलवे बोर्ड जल्द ला सकती है कॉमर्शियल इंस्पेक्टर की नौकरी,पढ़े डिटेल

रेलवे बोर्ड अपनी कामकाज में सुधार के तहत कॉमर्शियल इंस्पेक्टर की नौकरी के लिए एमबीए होना अनिवार्य कर सकती है। वर्तमान में इस पद के लिए स्नातक युवा आवेदन करते हैं, लेकिन भविष्य में स्नातक के साथ एमबीए की डिग्री होने पर ही रेलवे में आवेदन कर सकेंगे। नई भर्ती में यह नया नियम लागू कर दिया जाएगा। रेलवे बार्ड के कॉमर्शियल विभाग की ओर से 23 नवंबर को जारी पत्र में उल्लेख है कि कॉमर्शियल इंस्पेक्टर को चीफ कॉमर्शियल सह टिकट क्लर्क कैडर में विलय करने की योजना है। इसी प्रकार ट्रैफिक इस्पेक्टर बतौर कॉमर्शियल इस्पेक्टर व चीफ कॉमर्शियल सह टिकट क्लर्क के पद पर काम कर सकेंगे। रेलवे अधिकारियों ने बताया कि वर्तमान में सभी कॉमर्शियल विभाग के कर्मचारियों (ग्रुप-सी) की ड्यूटी बंटी हुई है और वह एक-दूसरे का काम नहीं कर सकते हैं।
उदाहरण के लिए कॉमर्शियल विभाग में टीटीई ट्रेन में टिकट चेक करते हैं, जबकि टीसी प्लेटफार्म व गेट पर टिकट चेक करते हैं। बुकिंग क्लर्क रेलवे के टिकट काउंटर पर टिकट बुकिंग करते हैं और कॉमर्शियल इंस्पेक्टर ट्रेन व स्टेशन पर अवैध वेडिंग की रोकथाम आदि का कार्य करते हैं। यह सभी कॉमर्शियल विभाग के कर्मचारी हैं। केंद्र सरकार ने रेलवे के पुर्नगठन के तहत कॉमर्शियल विभाग के सभी कैडर को विलय करना शुरू कर दिया है, ताकि जरूरत के अनुसार उनकी ड्यूटी लगाई जा सके। अधिकारी ने बताया कि कॉमर्शियल इंस्पेक्टर को चीफ कॉमर्शियल सह टिकट क्लर्क, ट्रैफिक इंस्पेक्टर के कैडर को विलय करने की योजना है। रेलवे में कॉमर्शियल विभाग में 85,000 कर्मचारी कार्यरत हैं। इसमें रेलवे की यूनियन के साथ चर्चा करने के बाद इसे लागू कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि नए नियम में उक्त पद के लिए स्नातक के साथ एमबीए अनिवार्य कर दिया जाएगा। रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) जल्द ही कॉमर्शियल विभाग में रिक्त पदों को भरने के लिए परीक्षा आयोजित कराएगा। रेलवे यूनियन विरोध करेगा रेलवे यूनियन के नेताओं ने इसका विरोध करने का फैसला किया है। उनका तर्क है कि रेलवे मल्टी टॉस्क स्टाफ (एमटीएस) के नाम पर रेलवे कर्मचारियों की संख्या कम करना चाहती है। रेलवे एक कर्मचारी से कई प्रकार के काम एक साथ लेना चाहती है। दो दशक पहले रेलवे मल्टी स्किल योजना लेकर आई थी, जिसका यूनियन ने विरोध किया था और रेलवे बोर्ड ने इसे बाद में वापस ले लिया।

Check Also

30 जून से शुरू होगा ‘मन की बात’ कार्यक्रम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकसभा चुनाव के बाद पहली बार 30 जून को रेडियो पर मन …