Wednesday , May 22 2024

अखिलेश यादव का इम्तिहान, सपा ने चुनाव प्रचार में झोंकी पूरी ताकत

समाजवादी पार्टी के संस्‍थापक मुलायम सिंह यादव का पिछले 10 अक्‍टूबर को गुड़गांव के मेदांता अस्‍पताल में निधन हो गया था। उनके जाने के बाद यूपी की गोला गोकर्णनाथ विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव में सपा मुखिया और पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव का पहला इम्तिहान होने जा रहा है। इस सीट पर प्रचार मंगलवार की शाम पांच बजे थम जाएगा। उपचुनाव में सात प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। भाजपा और सपा ने चुनाव प्रचार में पूरी ताकत झोंक दी। भाजपा ने जहां 40 स्टार प्रचारकों को गोला विधानसभा क्षेत्र में प्रचार के लिए उतारा वहीं सपा ने भी 39 स्टार प्रचारकों को चुनाव प्रचार के लिए भेजा। चुनाव प्रचार थमने के साथ ही प्रशासन ने चुनाव की तैयारियां पूरी कर ली हैं। इस सीट पर यह उपचुनाव यहां से विधायक रहे अरविन्द गिरि के निधन के चलते हो रहा है। उपचुनाव में भाजपा ने जहां स्व. अरविन्द गिरि के बेटे अमन गिरि को प्रत्याशी बनाया है वहीं सपा ने पूर्व विधायक विनय तिवारी को चुनाव मैदान में उतारा है। उपचुनाव में इसके अलावा पांच और प्रत्याशी मैदान में हैं। चुनाव प्रचार एक नवम्बर की शाम पांच बजे समाप्त हो जाएगा। दो नवम्बर को पोलिंग पार्टियां रवाना होंगी। तीन नवम्बर को मतदान होना है। उपचुनाव में भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है। डिप्टी सीएम बृजेश पाठक, केशव प्रसाद मौर्य के अलावा करीब 16 मंत्री व राज्यमंत्री चुनाव प्रचार में लगे रहे। वहीं सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी गोला के पब्लिक इंटर कालेज मैदान में जनसभा को संबोधित किया। इस उपचुनाव में भाजपा ने 40 स्टार प्रचारको को उतारा। वहीं सपा के प्रदेश अध्यक्ष सहित कई पूर्व मंत्री व विधायकों ने गोला विधानसभा में पहुंचकर चुनाव प्रचार किया। सपा ने भी कई स्टार प्रचारकों को इस चुनाव मैदान में उतारा। डोर-टू-डोर जनसम्पर्क के साथ ही नुक्कड़ सभाएं करके सपा प्रत्याशी व स्टार प्रचारकों ने सपा की नीतियां लोगों को बताईं। मंगलवार को चुनाव प्रचार का अन्तिम दिन है। इसके बाद प्रचार का शोर थम जाएगा। तीन नवम्बर को मतदान होना है। गन्‍ना मूल्‍य भुगतान का सीएम का वादा, सपा ने बताया जुमला गोला गोकर्णनाथ विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए प्रचार को पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्ण गन्ना भुगतान का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि नया सत्र शुरू होने से पहले गन्ना किसानों के पाई-पाई का भुगतान होगा। इसमें जो कोताही बरतेगा, वो याद रखे कि हमारी जेलें भी उनका इंतजार करती हैं। सीएम के इस ऐलान पर सपा से प्रतिक्रिया तुरंत आई। राष्ट्रीय महासचिव पूर्व राज्यसभा सांसद रवि प्रकाश वर्मा ने कहा कि गन्ना भुगतान को लेकर भाजपा और सीएम योगी आदित्यनाथ का आश्वासन मात्र जुमला है। जब चुनाव आता है तब सबको गन्ना भुगतान की बात याद आती है। इससे पहले भी भाजपा यही दावा करती रही, लेकिन गन्ना किसानों को भुगतान नहीं दिला पाए।

Check Also

बरेली में भीषण गर्मी का सिलसिला बरकरार

बरेली में मंगलवार को हवा की दिशा में बदलाव होते ही न्यूनतम और अधिकतम पारा …