Friday , May 24 2024

J&K Terror Attack: बम धमाके के बा ताबड़तोड़ फायरिंग, सुंजवां में CISF जवानों की बस पर आतंकी हमले का वीडियो आया सामने

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे से पहले आत्मघाती हमला करने की आतंकी कोशिश शुक्रवार को नाकाम हो गई. सुरक्षाकर्मियों ने मुठभेड़ में दो संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकवादियों को मार गिराया. मुठभेड़ में सीआईएसएफ का एक अधिकारी भी शहीद हो गया.

31 करोड़ से अधिक कोविड डोज का सुरक्षा कवच प्रदान करने वाला देश का प्रथम राज्य बना यूपी

न्यूज एजेंसी एएनआई ने इस हमले का एक वीडियो जारी किया है, जिसमें नजर आ रहा है कि, सुंजुवां इलाके से सीआईएसएफ के जवानों की बस गुजर रही है. इसके कुछ देर बाद वहां से एक बाइक सवार गुजरता है और फिर धमाकों की आवाज सुनाई देने लगती है. जवानों और आतंकियों के बीच ताबड़तोड़ फायरिंग होती है. हालांकि एबीपी न्यूज इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता.

मुठभेड़ में नौ सुरक्षाकर्मी घायल

जम्मू के बाहरी इलाके सुंजवां में सेना के शिविर के पास हुई इस मुठभेड़ में नौ सुरक्षाकर्मी घायल हो गए. गौरतलब है कि रविवार को सांबा जिले की पल्ली पंचायत में प्रधानमंत्री के निर्धारित दौरे के मद्देनजर पूरे क्षेत्र में रेड अलर्ट जारी किया गया है. डीजीपी दिलबाग सिंह ने मुठभेड़ स्थल का दौरा करने के बाद कहा कि दोनों आतंकवादी पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती दस्ते का हिस्सा थे और उनकी घुसपैठ प्रधानमंत्री मोदी की जम्मू-कश्मीर यात्रा को बाधित करने की एक ‘बड़ी साजिश’ हो सकती है.

एक्शन में योगी सरकार 2.0 के मंत्री : आजमगढ़ मंडल के उपनिदेशक विनोद कुमार जायसवाल को किया निलंबित, लगे ये आरोप

एनआईए और राज्य जांच एजेंसी की एक संयुक्त टीम ने दिन में मुठभेड़ स्थल का दौरा किया. उनके मामले को जांच के लिए अपने हाथ में लेने की संभावना है. शुरुआती जांच के अनुसार, दो आतंकवादी सांबा जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा से घुसपैठ करने के बाद गुरुवार को जम्मू शहर के बाहरी इलाके में घुसे और सेना के शिविर के पास एक इलाके में रुके. डीजीपी ने मुठभेड़ स्थल के पास कहा, पुलिस और अन्य बल एक अभियान में शामिल थे, जो पूरा हो गया.

दिल्ली में मास्क नहीं पहनने पर 500 रुपये फाइन, प्राइवेट कार में नहीं कटेगा चालान

रिपोर्ट के अनुसार, दोनों आतंकवादी जेईएम के आत्मघाती दस्ते का हिस्सा थे, जिन्हें सुरक्षा बलों के एक शिविर को निशाना बनाने के लिए पाकिस्तान से भेजा गया था, ताकि कई लोग हताहत हो सकें. उन्होंने बताया कि दोनों आतंकवादी आत्मघाती जैकेट पहने हुए थे और भारी मात्रा में हथियारों और गोला-बारूद से लैस थे. इसी दौरान सीआईएसएफ की एक बस 15 जवानों को लेकर जम्मू हवाईअड्डे की ओर जा रही थी. इसके बाद अचानक दोनों आतंकवादियों ने बस की ओर ग्रेनेड फेंका और भागने से पहले बस पर गोलियां चलाईं। इसके बाद सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर दी.

CISF के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों ने बस पर गोलियां चलाईं और ग्रेनेड फेंका. इस हमले में सहायक सब-इंस्पेक्टर (एएसआई) एसपी पाटिल शहीद हो गए, जबकि बस में बैठे दो अन्य लोग घायल हो गए. सुरक्षाबलों ने भी उचित जवाब दिया.

कांग्रेस से फिर ‘नाखुश’ दिखे हार्दिक पटेल, लीडरशिप पर खड़े किये ये सवाल

Check Also

194 देशों के सामने आयुष्मान भारत और डिजिटल सार्वजनिक स्वास्थ्य का प्रदर्शन

डब्ल्यूएचए का 77वां सत्र 27 मई से 1 जून तक जिनेवा में आयोजित किया जाएगा। …