Saturday , July 13 2024

Elections 2022 : बड़ी रैलियों और चुनावी यात्राओं पर 11 फरवरी तक रोक जारी, चुनाव आयोग ने दी ये छूट ?

नई दिल्ली। कोरोना की तीसरी लहर के चलते पांच राज्यों में होने वाले चुनावों का शोर फिलहाल थमा हुआ था, लेकिन अब आयोग की तरफ से राजनीतिक रैलियों और जनसभाओं को लेकर कुछ ढील देने का फैसला लिया गया है.

कांग्रेस ने जारी की 6 उम्मीदवारों की सूची : अमर दुबे की पत्नी की मां और मुनव्वर राना की बेटी को टिकट

बड़ी रैलियों पर रोक अब भी जारी

चुनाव आयोग की तरफ से बताया गया है कि, 1 हजार लोगों के साथ नेता जनसभा कर सकते हैं. पहले खुली जगहों पर 500 लोगों के साथ जनसभा की इजाजत थी. वहीं मैदान की 50 फीसदी क्षमता के साथ नेता जनसभा कर सकते हैं. हालांकि बड़ी रैलियों पर रोक अब भी जारी रहेगी.

500 लोगों के साथ मीटिंग की छूट

कोरोना के मामलों में कुछ हद तक कमी को देखते हुए चुनाव आयोग की तरफ से ये छूट देने का फैसला लिया गया. इसके अलावा इनडोर और डोर-टू-डोर कैपेनिंग को लेकर भी कुछ राहत दी गई हैं. इनडोर की अगर बात करें तो इसमें 500 लोगों के साथ मीटिंग की छूट दी गई है. जो पहले 300 लोगों तक सीमित थी.

सुभासपा ने जारी की 5 प्रत्याशियों की सूची : जहूराबाद से चुनाव लड़ेंगे ओम प्रकाश राजभर

वहीं डोर-टू-डोर में 20 लोग एक साथ चुनाव प्रचार करने जा सकते हैं. इससे पहले ये संख्या 10 लोगों की थी. लेकिन तमाम बड़ी रैलियों और चुनावी यात्राओं पर 11 फरवरी तक रोक जारी रहेगी.

फरवरी से विधानसभा चुनाव

यूपी, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में विधानसभा चुनावों की शुरुआत होने जा रही है. लेकिन चुनाव की तारीखों का जब ऐलान हुआ था तो देश में कोरोना अपने पीक पर था. इसके बाद चुनाव आयोग ने तमाम रैलियों और जनसभाओं पर रोक लगाने का फैसला किया था.

मायावती ने कानपुर में हुए दर्दनाक सड़क हादसे पर जताया दुख, कहा- पीड़ित परिवारों की सहायता करे सरकार

लगभग हर हफ्ते इन पाबंदियों को आगे बढ़ाया गया. जिसके बाद नेता घर-घर जाकर प्रचार कर रहे थे. लेकिन अब चुनावों में काफी कम वक्त बचा है और कोरोना के मामलों में भी राहत है तो ऐसे में चुनाव आयोग ने कुछ ढील देने का ऐलान किया.

Check Also

29 जून का राशिफल: मिथुन और वृश्चिक राशि वालों को खर्चों पर करना होगा नियंत्रण

मेष दैनिक राशिफल (Aries Daily Horoscope) आज का दिन आपके लिए मिला-जुला रहने वाला है। …