Saturday , May 25 2024

केजीएमयू में ओपीडी के लिए होगा सिर्फ ऑनलाइन पंजीकरण, कोरोना के चलते लिया फैसला

लखनऊ। कोरोना की तीसरी लहर व ओमीक्रोन की दस्तक के बाद केजीएमयू प्रशासन संजीदा हो गया है। ओपीडी के नियमों में बदलाव के आदेश जारी कर दिए हैं। अब बिना ऑनलाइन पंजीकरण ओपीडी में मरीज नहीं देखे जाएंगे। ऑफलाइन पंजीकरण पूरी तरह से बंद कर दिया गया है।

इटली से अमृतसर पहुंचे अंतरराष्ट्रीय चार्टर प्लेन में 125 यात्री कोरोना पॉजिटिव

कोरोना के मरीजों की संख्या में इजाफा

केजीएमयू की ओपीडी में रोजाना तीन हजार से अधिक मरीज देखे जा रहे थे। अचानक कोरोना के मरीजों की संख्या में इजाफा होने लगा। लखनऊ के सात लोगों में कोरोना के नए वैरिएंट ओमीक्रोन की पुष्टि हुई। इसके बाद केजीएमयू प्रशासन ने ओपीडी में डॉक्टर की सलाह के नियम को सख्त कर दिया है।

टीकाकरण का प्रमाण-पत्र लाना होगा

इस संबंध में केजीएमयू सीएमएस की तरफ से आदेश भी जारी कर दिया गया है। इसके तहत वैक्सीन की दोनों डोज लगे मरीज ओपीडी में सीधे देखे जाएंगे। ऐसे मरीज को आरटी-पीसीआर जांच की जरूरत नहीं होगी। पर, जो मरीज सर्दी, जुकाम, बुखार जैसे लक्षण की चपेट में होंगे उनकी कोरोना जांच कराई जाएगी। यह नियम तीमारदारों पर भी लागू होगा। टीकाकरण संबंधी प्रमाण-पत्र साथ लाना होगा। ऑनलाइन पंजीकरण सभी के लिए अनिवार्य है।

चंडीगढ़ के PGI में कोरोना से बिगड़े हालात, 2 दिनों में 146 डॉक्टर और कर्मचारी संक्रमित

Check Also

प्रियंका गांधी-अखिलेश यादव की आज गोरखपुर में सभा

इंडिया गठबंधन ने सातवें चरण की सीटों के लिए प्रचार पर फोकस बढ़ा दिया है। …