Monday , May 20 2024

राजस्थान की गहलोत सरकार के नए कैबिनेट का शपथग्रहण आज, 18 पुराने, 12 नए चेहरे होंगे, पायलट कैंप के पांच नेताओं को मंत्रिपद मिलेगा

कांग्रेस नेता सचिन पायलट भले ही इससे इनकार करें, लेकिन राजस्थान के नए कैबिनेट में उनके कई समर्थकों को जगह मिलने जा रही है। पायलट ने मीडिया से कहा कि सामूहिक जिम्मेदारी से फैसला लिया गया है, पार्टी में कोई गुटबाजी नहीं है, मेरे गुट का कोई नहीं है। राजस्थान में अशोक गहलोत के नेतृत्व वाले मंत्रिमंडल में फेरबदल के तहत 15 विधायकों को 11 कैबिनेट और चार राज्य मंत्री होंगे। शपथ ग्रहण समारोह रविवार शाम चार बजे राजभवन में होगा। 

राजस्थान में आज शाम होने वाले कैबिनेट विस्तार में 12 नए चेहरों को शामिल किया

जा रहा है। इनमें सचिन पायलट कैंप के पांच चेहरे भी शामिल किए जाएंगे, जो उनके काफी करीबी माने जाते हैं। सूत्रों ने मीडिया को बताया है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने राजस्थान कैबिनेट के सभी 21 सदस्यों के इस्तीफा देने के बाद तीन कैबिनेट मंत्रियों- रघु शर्मा, हरीश चौधरी और गोविंद सिंह डोटासरा का इस्तीफा स्वीकार कर लिया। राजस्थान में ‘एक आदमी एक पद’ फॉर्मूले के तहत नया कैबिनेट विस्तार हो रहा है। 

रघु शर्मा जहां गुजरात के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रभारी, हरीश चौधरी पंजाब के प्रभारी और डोटासरा राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रमुख हैं। अशोक गहलोत नीत कांग्रेस सरकार में कुल 30 मंत्री होंगे। इसमें पहले इस्तीफा दे चुके 18 मंत्री भी होंगे। सूत्रों के अनुसार, तीन राज्य मंत्रियों को कैबिनेट में शामिल किया जा रहा है। 

इस कैबिनेट विस्तार में जातीय समीकरणों को पूरा ध्यान में रखा गया है। सूत्रों ने कहा कि अनुसूचित जाति से आने वाले राज्य के तीन मंत्रियों को कैबिनेट रैंक में पदोन्नत किया गया है। नए कैबिनेट में ऐसा पहली बार होगा, जब राजस्थान के नए कैबिनेट में चार सदस्य अनुसूचित जाति समुदाय से होंगे। पंजाब में दलित मुख्यमंत्री नियुक्त करने के बाद कांग्रेस का यह अगला दांव है। इतना ही नहीं, अनुसूचित जनजाति से भी तीन मंत्री होंगे। इसके अलावा, इस कैबिनेट में तीन महिलाएं और एक मुस्लिम सदस्य होगा। 

आज शाम को कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ लेने वाले नए मंत्रियों में हेमाराम चौधरी, महेंद्रजीत सिंह मालवीय , रामलाल जाट, महेश जोशी, विश्वेंद्र सिंह, रमेश मीना, ममता भूपेश बरवा, भजनलाल जाटव, टिकाराम जुली,  गोविंद राम मेघवाल और शकुंतला रावत का नाम है। वहीं राज्य मंत्री के रूप में शपथ लेने वालों में जाहिदा, बृजेंद्र सिंह ओला , राजेंद्र दुरहा और मुरली लाल मीना हैं। 

सूत्रों के हवाले से बताया कि सचिन पायलट खेमे के जिन लोगों को राजस्थान मंत्रिमंडल में में शामिल किया जाएगा, उनमें कैबिनेट मंत्री के तौर पर विश्वेंद्र सिंह, रमेश मीणा और हेमाराम चौधरी होंगे, वहीं राज्य मंत्री के तौर पर बृजेंद्र ओला और मुरारी मीणा होंगे। बता दें कि विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को पिछले साल राजनीतिक संकट के दौरान कैबिनेट मंत्री के पद से बर्खास्त कर दिया गया था। 

अनुसूचित जाति के जिन तीन मंत्रियों को कैबिनेट रैंक में प्रमोशन मिलने वाला है, वे हैं भजनलाल जाटव, ममता भूपेश भैरवा और टीकाराम जूली। अन्य अनुसूचित जाति के सदस्य राम मेघवाल भी नए कैबिनेट में शामिल होंगे। राजस्थान कैबिनेट में राम मेघवाल की एंट्री, पूरी तरह से नया चेहरा होगा। इतना ही नहीं, हाल ही में कांग्रेस का हाथ थामने वाले बसपा के पूर्व विधायक राजिंदर गुडा भी मंत्रिमंडल में शामिल किए जाएंगे। 

Check Also

ईरान के राष्ट्रपति रईसी के निधन पर पीएम मोदी ने जताया शोक

पीएम मोदी ने कहा कि रईसी का भारत-ईरान के द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने में …