Monday , May 27 2024

आज 3 घंटे 28 मिनट लंबा आंशिक चंद्र ग्रहण, 580 साल बाद दिखा ऐसा नज़ारा, भारत में नहीं लगेगा सूतक

साल का दूसरा और आखिरी चंद्र ग्रहण आज 3 घंटे 28 मिनट तक रहेगा। 580 साल बाद

ऐसा नज़ारा दिखाई दे रहा है। आंशिक चंद्र ग्रहण होने के कारण भारत में सूतक काल मान्य नहीं होगा। चंद्र ग्रहण की शुरुआत भारतीय समय अनुसार सुबह 11 बजकर 34 मिनट से होगी और यह शाम 05 बजकर 33 मिनट पर समाप्त होगा। उपछाया चंद्र ग्रहण की कुल अवधि 05 घंटे 59 मिनट की है। जानकारों के अनुसार, चंद्र ग्रहण को असम और अरुणाचल प्रदेश में कुछ पल के लिए देखा जा सकेगा।

अरुणाचल प्रदेश के कुछ ऊंचे पहाड़ी क्षेत्रों में शुक्रवार की शाम 4.17 बजे कुछ सेकेंड के लिए आंशिक चंद्र ग्रहण दिखाई देगा। इसके बाद पेनुम्ब्रल चंद्र ग्रहण शुरू होगा जो कि 5 बजकर 33 मिनट तक रहेगा।

हिंदू पंचांग के अनुसार, चंद्र ग्रहण के दिन कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि है। नासा की वेबसाइट के अनुसार, आंशिक (खण्डग्रास) चंद्रग्रहण 3 घंटे 28 मिनट का रहेगा। भारत में उपछाया चंद्र ग्रहण दिखाई देगा। उपछाया चंद्र ग्रहण को खुली आंखों से नहीं देखा जा सकता है, इसे देखने के लिए विशेष उपकरणों की जरूरत होती है।

चंद्र ग्रहण को पश्चिमी अफ्रीका, पश्चिमी यूरोप, उत्तरी और दक्षिणी अमेरिका, एशिया, ऑस्ट्रेलिया और अटलांटिका महासागर में दिखाई देगा। ग्रहण का मोक्ष चंद्रोदय ऑस्ट्रेलिया, थाईलैंड,  चीन, रूस और भारत के पूर्वोत्तर भाग में दिखाई देगा।

Check Also

श्रीलंका की राजनीति में फिर वापसी की तैयारी में राजपक्षे

राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे संसदीय चुनाव से पहले राष्ट्रपति चुनाव कराना चाहते हैं। हालांकि, एसएलपीपी चाहती …