Saturday , May 25 2024

देश में अब बच्चों को लगेगा टीका, DGCI ने 2 से 18 साल तक के बच्चों को दी वैक्सीन लगाने की मंजूरी

नई दिल्ली। देश में कोरोना की दूसरी लहर अभी धीमी होती दिख रही है। बता दें कि, लंबे इंतजार के बाद आखिरकार देश में बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दे दी गई है।

UPElection : कानपुर से सपा की ‘विजय रथ यात्रा’ शुरू, अखिलेश यादव ने सरकार पर साधा निशाना

2 से 18 साल तक के बच्चों को टीका लगाने की मंजूरी

DGCI ने 2 से 18 साल तक के बच्चों को टीका लगाने की मंजूरी दे दी है। प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक 28 दिन के अंतराल पर बच्चों को कोरोना वैक्सीन के दो टीके लगाए जाएंगे। DGCI ने भारत बायोटेक कंपनी की कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दी है। इसी कंपनी को कोवैक्सीन का निर्माण किया है।

रिपोर्ट के आधार पर वैक्सीन को मंजूरी

गौरतलब है कि, भारत बायोटेक भारत की पहली कंपनी है, जिसने बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन पर ट्रायल किया था। देश में इस वैक्सीन का ट्रायल दिल्ली स्थित एम्स में हुआ था, जिसके बाद कंपनी ने रिपोर्ट सौंप दी। स्वास्थ्य मंत्रालय ने रिपोर्ट के आधार पर इस वैक्सीन को मंजूरी दी है।

राजधानी लखनऊ के इन स्थानों पर स्ट्रीट फूड हब किए जाएंगे विकसित

एक हफ्ते पहले भारत बायोटेक ने 18 साल से कम उम्र के बच्चों में उपयोग के लिए कोविड -19 वैक्सीन कोवैक्सीन के दूसरे चरण का परीक्षण पूरा किया और इसके सत्यापन और आपातकालीन उपयोग की मंजूरी के लिए डेटा केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन द्वारा प्रस्तुत किया गया है।

सोमवार को हुई बैठक में कोवैक्सीन को लेकर लिया गया फैसला

2 से 18 साल के बच्चों पर भारत में दूसरे और तीसर चरण का ट्रायल शुरू हुआ था. सोमवार को हुई बैठक में कोवैक्सीन को लेकर यह फैसला किया गया है. एसईसी ने अपनी सिफारिश ड्रग्स कंट्रोलर ऑफ इंडिया को उसकी सिफारिश के लिए भेजी है.

कान्हा की नगरी से चुनावी शंखनाद, शिवपाल सिंह की ‘सामाजिक परिवर्तन रथयात्रा’ का आगाज

महामारी के चलते लंबे वक्त से स्कूल नहीं जा पा रहे बच्चे

गौरतलब है कि, बच्चे कोरोना महामारी के चलते लंबे वक्त से स्कूल नहीं जा पा रहे है. बच्चों को ऑनलाइन क्लास करना पड़ रहा है. कई मामले आए है जब बच्चों को ऑनलाइन क्लास की वजह से आंखों पर असर पड़ रहा है.

2 करोड़ से ज्यादा बच्चों को वैक्सीन से सुरक्षा मिल पाएगी

इससे पहले, अमेरिकी दवा निर्माता कंपनी फाइजर और बायोएनटेक ने 5 से 11 सालों के बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की अमेरिकी ड्रग्स रेगुलेटर फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन से इजाजत मांगी है. इस कदम से अमेरिका के करीब 2 करोड़ 80 लाख बच्चों को वैक्सीन से सुरक्षा मिल पाएगी.

Lakhimpur Kheri Case: जयंत चौधरी को बरेली एयरपोर्ट पर पुलिस ने लिया हिरासत में, मचा बवाल

फाइजर ने कहा कि, उनकी तरफ से एफडीए को इसके समर्थन में डेटा जमा करा दिए गए हैं. दवा निर्माता कंपनी के अनुरोध पर फौरन ड्रग्स रेगुलेटर की तरफ से कदम उठाते हुए 26 अक्टूबर को बैठक निर्धारित की गई है.

Check Also

बंगाल की खाड़ी में उठने वाला है भयंकर तूफान, 102 किमी की रफ्तार से चलेंगी हवाएं

पूर्वोत्तर और दक्षिण भारत प्रचंड गर्मी से जूझ रहा है। कई शहरों तापमान में 48 …