Friday , June 14 2024

IAS अफसर इफ्तखारुद्दीन की ‘कट्टरता वाली पाठशाला’ का वीडियो वारयल, SIT जांच के आदेश

कानपुर। उत्तर प्रदेश के सीनियर आईएएस अफसर इफ्तखारुद्दीन की ‘कट्टरता वाली पाठशाला’ का वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो चुका है.

मौलानाओं को सरकारी बंगले पर बुलाया

सूत्रों के मुताबिक, यह वायरल वीडियो उस समय का है जब इफ्तखारुद्दीन कानपुर के कमिश्नर थे और उसी दौरान उन्होंने कट्टरता परोसने में माहिर कुछ अपने मौलानाओं को अपने सरकारी बंगले पर बुलाकर इस पाठशाला का आयोजन किया था.

वृष, कन्या, धनु और कुंभ राशि वालों का चमकेगा भाग्य, जानें सभी राशियां अपना राशिफल

जिसमें वह खुद भी कट्टरता की भूमिका में नजर आ रहे हैं. हालांकि hindnews24x7.com इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है.

सीएम योगी तक पहुंची सीनियर आईएएस की शिकायत

वीडियो वायरल होने के बाद अब सीनियर आईएएस की शिकायत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक पहुंच चुकी है.

जलशक्ति मंत्री ने दिए निर्देश, किसानों को पर्याप्त पानी उपलब्ध कराए

कट्टरता के साथ धर्मांतरण को भी बढ़ावा दे रहे इफ्तखारुद्दीन

अब यह भी आरोप लगाया जा रहा है कि, इफ्तखारुद्दीन ने पद पर कार्यरत रहने के दौरान कट्टरता के साथ-साथ धर्मांतरण को भी बढ़ावा दिया.

हिन्दुओं के अंतिम संस्कार की प्रक्रिया पर उठाए सवाल

वायरल वीडियो में एक धर्मगुरु एक कहानी सुना रहे हैं, जिसमें वह हिन्दुओं के अंतिम संस्कार की प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए दिखाई दे रहे है. इस दौरान इफ्तखारुद्दीन भी वहां मौजूद हैं.

यूपी : 7 दिनों तक CBI की हिरासत में रहेंगे महंत नरेंद्र गिरि केस के तीनों आरोपी

धर्मगुरु बता रहा है कि, मौत के बाद बहन बेटियों को जलाने से क्षुब्ध एक हिंदू ने इस्लाम धर्म अपना लिया. अगर सूत्रों की माने तो यह वीडियो कानपुर से लेकर लखनऊ और पंचम तल तक पहुंच चुका है और इसकी चर्चा भी बड़ी जोर शोर से हो रही है.

केशव प्रसाद मौर्य- ये एक गंभीर मामला है

इस पूरे मसले पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या का कहना है कि, यह एक गंभीर मामला है. अगर ऐसा कुछ है, तो उसको गंभीरता से लिया जाएगा.

पीएम मोदी ने ‘आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन’ का किया शुभारंभ, कहा- स्वास्थ्य सुविधाओं में आएगा क्रांतिकारी बदलाव

IAS इफ्तखारुद्दीन मामले में SIT जांच के आदेश

वहीं कानपुर के आईएएस इफ्तखारुद्दीन के मामले में शासन द्वारा एसआईटी से जांच के आदेश दिए गए हैं।

एसआईटी के अध्यक्ष डीजी सीबीसीआईडी जीएल मीणा होंगे इसके साथ ही सदस्य एडीजी जोन भानु भास्कर होंगे। एसआईटी अपनी अपनी रिपोर्ट 7 दिन में शासन को प्रेषित करेगा।

जानें आज का पंचांग और राशिफल : ये राशियां रहें सावधान, न करें यह काम ?

Check Also

गोरखपुर: जम्मू के आतंकी हमले की प्रशंसा करने वाला युवक गिरफ्तार

पुलिस ने शिकायत मिलते ही आरोपी पर संप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने, आईटी एक्ट की धाराओं में …