Wednesday , May 22 2024

बंगाल सरकार ने चिड़ियाघर प्राधिकरण को सुझाए नाम

एक ही बाड़े में रखे शेर, शेरनी का नाम अकबर व सीता रखे जाने पर काफी विवाद हुआ था। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने इस मामले में कलकत्ता हाईकोर्ट में अपील की थी।

बंगाल सरकार ने त्रिपुरा से आए शेर और शेरनी के लिए केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण (सीजेडए) को नए नाम सुझाए हैं। सरकार के प्रस्ताव के अनुसार, शेर का नाम अकबर की जगह सूरज व शेरनी सीता का नाम तनया होगा। एक ही बाड़े में रखे शेर, शेरनी का नाम अकबर व सीता रखे जाने पर काफी विवाद हुआ था।

विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने इस मामले में कलकत्ता हाईकोर्ट में अपील की थी।

कहा था कि शेरनी का नाम सीता रखना अपमानजनक है। जलपाईगुड़ी बेंच ने सुनवाई करते हुए कहा था कि विवादास्पद नाम रखने से बचना चाहिए। जस्टिस सौगत भट्टाचार्य ने कहा था कि वह मुगल सम्राट के नाम पर दूसरे शेर का नाम अकबर रखने के पक्षधर नहीं हैं।

नाम की पुष्टि होने पर रिकॉर्ड में किया जाएगा दर्ज
वन विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि हमने सीजेडए को नाम भेज दिए हैं। अब यह उन पर निर्भर है कि वे या तो ये नाम रखें या उन्हें कोई डिजिटल नाम दें। नाम पुष्ट हो जाए तो इन्हें रिकॉर्ड में दर्ज कर लिया जाएगा। यदि जोड़ा भविष्य में शावक को जन्म देता है तो शावकों के माता-पिता का नाम सूरज और तनया के रूप में दर्ज किया जाएगा। बंगाल सफारी के एक अधिकारी ने मामले के अदालत में विचाराधीन होने के चलते कोई भी टिप्पणी करने से इन्कार कर दिया।

 

Check Also

सुप्रीम कोर्ट: क्या अब गिरफ्तारी की वैधता की जांच कर सकती है अदालत?

हेमंत सोरेन की तरफ से वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल और अरुणाभ चौधरी सुप्रीम कोर्ट में …