Friday , April 19 2024

बरेली: रोडवेज की एसी बसों में महंगा हुआ सफर, 10 प्रतिशत किराया बढ़ा

यूपी रोडवेज की एसी बसों में सफर अब महंगा हो गया है। एक अप्रैल से एसी बसों का 10 प्रतिशत किराया बढ़ा दिया गया है। बरेली और रुहेलखंड डिपो की 32 एसी बसों का संचालन लखनऊ और दिल्ली रूट पर होता है।

बरेली जंक्शन पर सोमवार से यूपीआई से भुगतान की सुविधा शुरू हो गई। हालांकि, पहले दिन रेल टिकटों के अलावा अन्य सेवाओं के लिए यूपीआई से भुगतान की सुविधा शुरू नहीं हो सकी। इसके लिए क्यूआरकोड चस्पा करने का काम चल रहा है। इधर, सोमवार से रोडवेज की एसी बसों में यात्रा 10 प्रतिशत महंगी हो गई है। बरेली और रुहेलखंड डिपो की 32 एसी बसों का संचालन लखनऊ और दिल्ली रूट पर होता है।

रोडवेज ने 16 दिसंबर से 29 फरवरी तक एसी श्रेणी की बसों के किराये में 10 प्रतिशत की कटौती कर दी थी। बाद में किराये में कटौती की सीमा को 31 मार्च तक बढ़ा दिया गया। 31 मार्च की रात 12 बजे से बढ़ा हुआ किराया लागू होना था, लेकिन टोल टैक्स में वृद्धि के कारण पशोपेश की स्थिति बनी रही। अगर टोल टैक्स में इजाफा किया गया होता तो सामान्य श्रेणी की बसों के किराये में इजाफा किया जाता। इसके अलावा एसी बसों के किराये में भी 10 के स्थान पर 15 फीसदी तक वृद्धि होती। देर रात तक आगरा, दिल्ली और नैतीताल रूटों के लिए किराया सूची तैयार की जाती रही। बाद में पता लगा कि टोल टैक्स में फिलहाल इजाफा नहीं किया गया है। ऐसे में सोमवार को एसी बसों कि किराये में 10 फीसदी वृद्धि कर दी गई।

इधर, जंक्शन पर सोमवार को टिकट वेंडिंग मशीन और यूटीएस से टिकट के बदले यूपीआई से भुगतान की सुविधा शुरू हो गई। अगले दो-तीन दिन में पार्किंग, वेटिंग रूम, खाने-पीने के स्टॉल समेत अन्य सेवाओं के लिए भी यात्रियों को यूपीआई से भुगतान की सुविधा मिलने लगेगी। पहले दिन शाम पांच बजे तक 645 यात्रियों ने यूपीआई से भुगतान कर टिकट लिए। मुख्य वाणिज्य निरीक्षण राकेश सिंह ने बताया कि अन्य सेवाओं के लिए भी जल्द यूपीआई से भुगतान की सुविधा मिलने लगेगी।

एसी बसों में किराया पहले और अब
कौशांबी- 551 605
गाजियाबाद- 527 579
मुरादाबाद- 209 229
लखनऊ- 522 575
सीतापुर- 349 370

Check Also

बिहार: तिलक समारोह से लौट रहे लोगों से भरा ट्रैक्टर नहर में पलटा

बिहार: तिलक समारोह से लौट रहा ट्रेक्टर पलट गया, जिसमें तीन लोगों की मौके पर …