Thursday , February 29 2024

पाचन संबंधी समस्याओं से परेशान रहती हैं, तो काले जीरे का करें सेवन-

मसालों के बिना व्यंजनों के स्वाद की कल्पना कर पाना बहुत मुश्किल है। खाने में स्वाद लाने के लिए मसाले कितने जरूरी हैं, ये तो आप सभी जानती होंगी। परंतु यह मसाले केवल खाने का स्वाद नहीं बढ़ाते बल्कि आपकी सेहत के लिए भी अधिक फायदेमंद होते हैं। इनमें खुशबू एवं फ्लेवर के साथ कई अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्व भी मौजूद होते हैं, जो आपकी समग्र सेहत के लिए महत्वपूर्ण हैं। मम्मी की मसालेदानी का ऐसा ही एक खास मसाला है काला जीरा। जब हमारे घर में किसी को भी ब्लोटिंग या कब्ज की समस्या होती है, तो मम्मी साधारण जीरे की जगह इसका इस्तेमाल करती हैं। आइए जानते हैं सेहत के लिए क्यों खास है काला जीरा।

गुणों के भंडार हैं भारतीय मसाले

दालचीनी, काली मिर्च, जावित्री, काली इलायची, जीरा से लेकर जायफल तक सभी पोषक तत्वों के बेहरीन स्रोत हैं। इन्ही मसालों में से और फायदेमंद मसाला है काला जीरा । काले जीरे को शाही जीरा भी कहते हैं। यह कई महत्वपूर्ण पोषक तत्वों ने भरपूर होता है। साथ ही सेहत के लिए कई रूपों में फायदेमंद है। तो चलिए जानते हैं ये किस तरह सेहत के लिए काम करता है । साथ ही जानेंगे मसालों के अलावा इन्हें डाइट में शामिल करने का तरीका।

बहुत खास है काला जीरा

काले जीरे को शाही जीरे के नाम से भी जाना जाता है। शाही जीरा स्वाद में सामान्य जीरे से मीठा होता है, इसलिए इसे मीठे जीरे के नाम से भी जाना जाता है। वहीं सामान्य जीरे की तुलना में इसका रंग गहरा और काला होता है। ये स्वाद में मीठा होता है इसलिए इसे बिस्किट और मसाला चाय बनाने में भी इस्तेमाल किया जाता है। पब मेड सेंट्रल द्वारा प्रकाशित अध्ययन के अनुसार काले जीरे में कई महत्वपूर्ण विटामिन्स और मिनरल्स मौजूद होते हैं। ये एंटीऑक्सीडेंट का एक बेहतरीन स्रोत है। इसमें फॉस्फोरस, आयरन, जिंक, कैल्शियम, फाइबर और पोटैसियम मौजूद होता है। साथ ही इसकी एंटी इन्फ्लेमेट्री प्रॉपर्टी इसे और ज्यादा खास बना देती हैं।

जानिए आपकी सेहत के लिए क्या हैं काले जीरे के फायदे

1. मेमोरी बूस्ट करता है कला जीरा

काले जीरे को मेमोरी बूस्टिंग मसाले के रूप में जाना जाता है। इसे शहद के साथ मिलाने पर संज्ञानात्मक कार्य (मानसिक प्रक्रियाओं का सामूहिक नाम है) में सुधार देखने को मिला। उचित परिणाम के लिए, इसे सुबह खाली पेट लेने का प्रयास करें। बढ़ती उम्र के साथ जिन्हे चीजें याद रखने में परेशानी आ रही है उनके लिए ये काफी प्रभावी रहेगा। आयुर्वेद के अनुसार काले जीरे को पुदीने की पत्तियों के साथ मिलाकर लेने से याददाश्त में सुधार देखने को मिलता है और ये अल्जाइमर जैसी न्यूरोलॉजिकल बीमारी में कारगर होता है।

2. डायबिटीज को भी कर सकता है कंट्रोल

पब मेड सेंट्रल के अनुसार नियमित रूप से काले जीरे का सेवन ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल रखता है। इसमें मौजूद फाइबर और अन्य पोषक तत्व ब्लड ग्लूकोज लेवल को बढ़ने से रोकते हैं। ऐसे में यदि आप टाइप 2 डायबिटीज से पीड़ित हैं, तो काला जीरा आपकी स्थिति को नार्मल रखने में मदद कर सकता है। उचित परिणाम के लिए खली पेट काले जीरे का चाय पियें।

3. पाचन क्रिया के लिए फायदेमंद

आयुर्वेद में सालों से काले जीरे का इस्तेमाल पाचन संबंधी समस्याओं के उपचार के रूप में होता चला आ रहा है। पब मेड सेंट्रल द्वारा किये गए अध्ययन के अनुसार काले जीरा में मौजूद फाइबर पाचन संबंधी समस्यायों में कारगर होते हैं। वहीं काले जीरे का तेल पाचन तंत्र की मांसपेशियों के ऊतकों को आराम देता है। इसी तरह ये पेट की ऐंठन, गैस, और सूजन की समस्या में कारगर होता है।

4. वेट लॉस में मददगार है शाही जीरा

पब मेड सेंट्रल के अनुसार काले जीरे में मौजूद फाइबर और अन्य पोषक तत्व आपके भूख एवं क्रेविंग्स को नियंत्रित रखते हैं। ऐस में आप जरुरत से ज्यादा नहीं खातीं साथ ही आपकी कैलरी इंटेक भी सिमित रहती है। यह फैक्टर वेट लॉस के लिए बहुत जरुरी है। काले जीरे का पानी पियें यह बेली फैट कट करने में मदद करेगा।

5. बालों एवं त्वचा के लिए फायदेमंद है

काले जीरे में कई आवश्यक पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो त्वचा एवं बालों की सेहत के लिए प्रभावी रूप से काम करते हैं। आप इसके तेल को नींबू के रस के साथ मिलाकर अपनी त्वचा एवं बालों पर अप्प्लाई कर सकती हैं। मसालों के अलावा इस तरह भी किया जा सकता है काले जीरे का इस्तेमाल (How to add kala jeera in diet)

1 काला जीरा और पानी

काले जीरे का पानी पिने से पेट से जुडी तमाम समस्यायों से राहत पाने में मदद मिलती है। एक गिलास गर्म पानी के साथ सीधा ½ चम्मच काले जीरे के बीज निगल सकती हैं। या ½ चम्मच काले जीरे के बीज को रात भर पानी में भिगो कर छोड़ दें। सुबह बीज निकाल दें और पानी पियें।

2 नींबू के साथ लें काला जीरा

नींबू और कला जीरा एक साथ मिलकर अधिक प्रभावी रूप से काम करते हैं। एक कटोरी में लगभग 1 चम्मच काला जीरा लें। अब आधा नींबू का रस डालें और इन्हे धुप में सूखने के लिए रख दें। सूखे काले जीरे के कुछ दानों को दिन में दो बार जरूर खाएं। इसके साथ ही आप काले जीरे के पाउडर और नींबू के रस को पानी में मिलाकर ले सकती हैं।

3 काला जीरा शहद और नींबू

काला जीरा के 8-10 दाने लेकर उन्हें बारीक पीस लें। अब एक गिलास गर्म पानी लें और उसमें पिसा हुआ काला जीरा डालें। आधा नींबू निचोड़ें और उसमें एक चम्मच शहद मिलाएं। वेट लॉस के लिए इसे रोज सुबह खाली पेट पिएं।

Check Also

डायबिटीज की बीमारी बन सकती है किडनी फेलियर की वजह

डायबिटीज किडनी की सेहत के लिए एक बड़ा खतरा है। जैसे-जैसे डायबिटीज किडनी को नुकसान …