Thursday , April 18 2024

प्रधानमंत्री मोदी ने इस वजह से की कैप्टन शिवा चौहान प्रशंसा, पढ़े वजह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सियाचिन में पहली महिला सैन्य अधिकारी कैप्टन शिवा चौहान की तैनाती की प्रशंसा की। सोशल मीडिया प्लेटफॅार्म ट्विटर के जरिए उन्होंने कैप्टन शिवा को बधाई देते  बुधवार को कहा कि यह भारत की नारी शक्ति की भावना को दिखाता है। इंजीनियर्स कोर की कैप्टन शिवा चौहान को सियाचिन ग्लेशियर में अग्रिम चौकी पर तैनात किया गया है। सियाचिन बैटल स्कूल में अन्य कर्मियों के साथ प्रशिक्षण के बाद, कैप्टन शिवा चौहान दुनिया की सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र सियाचिन में ऑपरेशनल रूप से तैनात होने वाली पहली महिला अधिकारी बन गई हैं।

2 जनवरी को एक कठिन चढ़ाई के बाद सियाचिन ग्लेशियर में शामिल हुई थीं

सियाचिन बैटल स्कूल में कैप्टन शिवा चौहान को कठोर प्रशिक्षण दिया गया, जिसमें धीरज प्रशिक्षण, बर्फ की दीवार पर चढ़ना, हिमस्खलन और हिमस्खलन बचाव और उत्तरजीविता अभ्यास शामिल थे। बता दें कि कैप्टन शिव चौहान इस साल 2 जनवरी को एक कठिन चढ़ाई के बाद सियाचिन ग्लेशियर में शामिल हुई थीं। भारतीय सेना ने जानकारी दी कि कैप्टन चौहान के नेतृत्व में सैपर्स की टीम कई इंजीनियरिंग कार्यों के लिए जिम्मेदार होगी। इसके साथ ही उन्हें और तीन महीने की अवधि के लिए पोस्ट पर तैनात किया जाएगा।

मां ने शिवा की पढ़ाई पर दिया था ध्यान

राजस्थान से ताल्लुक रखने वाली कैप्टन शिवा ने 11 साल की उम्र में अपने पिता को खो दिया था। उनकी मां एक गृहिणी थी, जिन्होंने उनकी पढ़ाई का ध्यान रखा। कैप्टन शिवा ने अपनी स्कूली शिक्षा उदयपुर से की है। उन्होंने एनजेआर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, उदयपुर से सिविल इंजीनियरिंग में स्नातक की उपाधि प्राप्त की है।  

Check Also

चुनावी बॉन्ड योजना को रद्द करने के फैसले पर पुनर्विचार के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका

अधिवक्ता नेदुमपारा ने कहा कि इस अदालत ने योजना के खिलाफ दायर याचिका पर विचार …