Sunday , June 16 2024

ताइवान के हवाई क्षेत्र में किया स्ट्राइक ड्रिल, अमेरिका को चेताया..

ताइवान के अनुसार चीन के 71 लड़ाकू विमानों ने ताइवान स्ट्रेट मेडियन लाइन को पार किया है और वहां सैन्य गतिविधि की। चीन ने कहा कि उसने ये सब अमेरिका और ताइवान को चेताने के लिए किया।

 चीन अपनी हरकतों से बाज आने का नाम नहीं ले रहा है। भारत के बाद अब उसने ताइवान की सीमा में घुसपैठ की कोशिश की है। ताइवान के रक्षा मंत्रालय के अनुसार पिछले 24 घंटों में चीन के 71 लड़ाकू विमानों और 7 जहाजों ने ताइवान स्ट्रेट की मध्य रेखा को पार किया है। मंत्रालय ने यह भी कहा कि चीन हमारी सीमा में सैन्य गतिविधियों को जारी रखे हुए है।

ताइवान के हवाई क्षेत्र में किया स्ट्राइक ड्रिल, अमेरिका को चेताया

चीन ने रविवार को ताइवान के हवाई क्षेत्र के आसपास ‘स्ट्राइक ड्रिल’ की। चीन का कहना है कि यह ताइवान और अमेरिका के एक चेतावनी के लिए आयोजित किया गया था और उनके उकसावे का जवाब है। चीनी सेना के ईस्टर्न थिएटर कमांड ने एक संक्षिप्त बयान में कहा कि उसने ताइवान के आसपास संयुक्त गोलाबारी स्ट्राइक ड्रिल का आयोजन किया था।

ताइवान के लोगों को डराने की कोशिश कर रहा चीन

ताइवान ने कहा कि अभ्यास से पता चलता है कि बीजिंग क्षेत्रीय शांति को नष्ट करने का काम कर रहा है और ताइवान के लोगों को डराने की कोशिश कर रहा है। ताइवान के रक्षा मंत्रालय के अनुसार, चीन ने संवेदनशील ताइवान स्ट्रेट की मध्य रेखा को पार किया। मंत्रालय ने कहा कि ताइवान के पास सात चीनी नौसैनिक जहाजों का भी पता चला है।

ताइवान बोले- हमला हुआ तो देंगे जवाब

ताइवान ने कहा कि चीन ने अपने कई विमानों को हमारे क्षेत्र में भेजा, लेकिन हमारे मिसाइल सिस्टम ने उनकी उड़ान की निगरानी की। रक्षा मंत्रालय ने कहा की चीन ने हमारे देश पर कब्जा करने के लिए हाल के वर्षों में दबाव दिया है। ताइवान की सरकार का कहना है कि वह शांति चाहती है, लेकिन अगर चीन हमला करता है तो वो अपनी रक्षा करेगी।

Check Also

जी-7 से इतर पीएम मोदी ने की जापान के प्रधानमंत्री से मुलाकात

पीएम मोदी ने भी एक्स पर जापान के प्रधानमंत्री के साथ मुलाकात की जानकारी दी। …