Friday , June 21 2024

जानें इस मामले में क्या सोचते है एलएसी के पास रहने वाले बॉर्डरवासी…

अरुणाचल प्रदेश के तवांग सेक्टर में चीनी सैनिकों की मुंह की खाने की चर्चा देश की ही नहीं बॉर्डर के उस पार भी हो रही है। झड़प के बाद अपनी हार को छिपाने के लिए चीन ने बयान दिया था कि सीमा पर शांति कायम है। सड़क से लेकर संसद में चीन के खिलाफ हल्ला-बोल मचा है। इस बीच एलएसी के पास रहने वाले बॉर्डरवासी इस बारे में क्या सोचते हैं। इसकी एक झलक सामने आई है। सीमा पर रहने वाले लोगों का कहना है कि वे चीनी सैनिकों की पिटाई देख काफी खुश हैं। अगर जरूरत पड़े तो वो भी चीन से दो-दो हाथ करने को तैयार हैं।
9 दिन पहले भारत चीन सीमा एलएसी के पास तवांग सेक्टर चीनी सैनिकों की घुसपैठ का भारतीय सैनिकों ने मुंहतोड़ जवाब दिया था। इस घटना को लेकर एलएसी से सिर्फ 10 किलोमीटर दूर भारत के आखिरी गांव जेमिथांग के मूल निवासी कोनचुक त्सेरिंग कहते हैं, “हालिया घटना के वीडियो ने स्थानीय लोगों को जोश से भर दिया है। हम अपने सैनिकों की बहादुरी देख काफी खुश हैं। हमारे सैनिकों ने कैसे चीनी सैनिकों की पिटाई की, देख काफी खुश हैं। इससे पहले भी सेना ऐसा कारनामा कर चुकी है।” कोनचुक आगे कहते हैं, “हम अपनी सरकार और सेना पर भरोसा करते हैं और सेना-आईटीबीपी के साथ बहुत अच्छे संबंध रखते हैं। हम कभी-कभी उन्हें हमें भी प्रशिक्षित करने के लिए कहते हैं ताकि जरूरत पड़ने पर दुश्मन से दो-दो हाथ कर सकें।” गौरतलब है कि हाल ही में सेना की तरफ से मीडिया में जानकारी सामने आई थी कि 300 से ज्यादा चीनी सैनिकों ने भारतीय पोस्ट पर कब्जा करने के लिए तवांग सेक्टर पर हमला बोल दिया। हालांकि भारतीय सेना ने मुस्तैदी दिखाई और चीनी सेना को खदेड़ा। सेना की इस बहादुरी की देशभर में प्रशंसा हो रही है।

Check Also

उत्तर भारत को मिलेगी गर्मी से राहत, तेजी से आगे बढ़ रहा मानसून

पूर्वी प्रशांत महासागर में अलनीनो के कमजोर पड़ने और ला-नीना के धीरे-धीरे सक्रिय होने से …