Saturday , April 20 2024

गुजरात में एक बार फिर भाजपा पूर्ण बहुमत की ओर, पढ़े पूरी ख़बर  

गुजरात में रुझानों में बीजेपी एक बार फिर पूर्ण बहुमत की ओर बढ़ रही है. गुजरात में पुल हादसे के बाद चर्चा में आए मोरबी की सभी सीटों पर बीजेपी आगे चल रही है. मोरबी सीट पर बीजेपी 481 वोटों से आगे है, टंकारा सीट पर 76 और वांकानेर सीट पर 3310 वोटों से बीजेपी ने बढ़त बनाई है. मोरबी की इन सीटों पर पहले चरण में वोटिंग हुई थी.
गुजरात के मोरबी में 30 अक्टूबर को हुए हादसे में करीब 135 लोग मारे गए थे. करीब 5 दिन चले रेस्क्यू ऑपरेशन में मृतकों के शवों को निकाल लिया गया था. गुजरात के मोरबी में मच्छु नदी पर बना सस्पेंशन ब्रिज काफी पुराना था. रविवार का दिन होने के चलते ब्रिज पर काफी तादाद में लोग पहुंच गए थे. भीड़ इतनी ज्यादा थी कि कई परिवार उस पर जाने की हिम्मत भी नहीं जुटा पाए. भीड़ बढ़ने के बाद रविवार की शाम अचानक ब्रिज टूट गया और सैकड़ों लोग सीधे नदी में जा गिरे. 143 साल पुराना था ब्रिज  मोरबी का ब्रिज 765 फुट लंबा और 4 फुट चौड़ा पुल 143 साल पुराना था. इस पुल का उद्घाटन 1879 में किया गया था. इस केबल ब्रिज को 1922 तक मोरबी में शासन करने वाले राजा वाघजी रावजी ने बनवाया था. वाघजी ठाकोर ने पुल बनाने का फैसला इसलिए लिया था, ताकि दरबारगढ़ पैलेस को नजरबाग पैलेस से जोड़ा जा सके. ओरेवा ग्रुप ने कराई थी मरम्मत  गांधीनगर से 300 किलोमीटर दूर मच्छु नदी पर बना ये केबल ब्रिज 7 महीने से बंद था. पुल की मरम्मत का काम अजंता मैनुफैक्चरिंग (ओरेवा ग्रुप) को मिला था. ये कंपनी घड़ियां, एलईडी लाइट, सीएफएल बल्ब, ई-बाइक बनाती है. हालांकि, अब ये जानकारी सामने आई है कि अजंता मैनुफैक्चरिंग ने मरम्मत का ठेका किसी दूसरी कंपनी को दे दिया था. सांसद के 12 रिश्तेदारों की जान गई  हादसे में मारे गए लोगों में ज्यादातर छोटे बच्चे थे. राजकोट से लोकसभा सांसद मोहन कुंदरिया के 12 रिश्तेदार भी इस हादसे में मारे गए थे. कुंदरिया ने न्यूज एजेंसी को बताया कि हादसे में उनके बड़े भाई के साले की चार बेटियां, उनमें से तीन के पति और 5 बच्चे मारे गए.

Check Also

फिलीपींस को आज ब्रह्मोस मिसाइलों का पहला सेट सौंपेगा भारत

भारतीय वायुसेना आज फिलीपींस को ब्रह्मोस मिसाइलों का पहला सेट सौंपेगी। दोनों देशों के बीच …