Monday , April 15 2024

श्रद्धा हत्याकांड मामले में दिल्ली पुलिस के हाथ लगा एक अहम सबूत…

दिल्ली पुलिस को श्रद्धा हत्याकांड में एक अहम सबूत हाथ लगा है। पुलिस को जंगल से मानव जबड़े का एक हिस्सा मिला है, जिस पर बाल भी हैं। इन्हें जांच के लिए फोरेंसिंक साइंस लैब (एफएसएल) को सौंप दिया है। वहीं, एफएसएल ने पहले ही श्रद्धा के पिता और भाई का ब्लड सैंपल डीएनए जांच के लिए ले लिया है। छतरपुर के जंगलों में पुलिस टीम शुक्रवार को भी हत्याकांड से जुड़े सबूत ढूंढ़ती रही। इसी दौरान मानव जबड़े के कुछ हिस्से मिले हैं। पुलिस का मानना है कि अब तक करीब 20 नमूने जमा हो गए हैं, जिससे डीएनए जांच के बाद सबूत मिलने की संभावना बढ़ गई है। दोस्तों ने जुल्म की कहानी बताई वहीं, शुक्रवार को श्रद्धा और आफताब के साझा मित्रों ने मजिस्ट्रेट के सामने साकेत कोर्ट में बयान दर्ज कराए। इस दौरान उन्होंने आफताब द्वारा श्रद्धा पर किए गए जुल्म की पूरी कहानी बताई। सूत्रों के अनुसार, श्रद्धा की सहेली ने आफताब को हैवान बताया और कहा कि वह सिगरेट से जलाता था। आफताब कभी-कभी उन्मादी की तरह व्यवहार करता था तो कभी बिल्कुल सामान्य शख्स बनकर रहता था। कई बार उसे भी आफताब से डर लगता था, इसलिए उसने इनके घर पर आना ही छोड़ दिया था। डेंटिस्ट से ली इलाज की रिपोर्ट : मुंबई गई दिल्ली पुलिस ने श्रद्धा के दांतों का इलाज करने वाले डॉक्टर से पूछताछ की। दरअसल, श्रद्धा ने अपने दो दांतों का रूट कैनाल ट्रीटमेंट कराया था। दिल्ली पुलिस ने डॉक्टर से इस बाबत जरूरी दस्तावेज ले कर अपने कब्जे में लिए और डाक्टर का बयान भी दर्ज कराया। वहीं, महरौली में मिले निचले जबड़े में भी रूट कैनाल ट्रीटमेंट के सबूत मिले हैं, इसलिए इसे श्रद्धा के सिर का हिस्सा माना जा रहा है। बद्री को नहीं ढूंढ़ सकी पुलिस : अभी तक पुलिस श्रद्धा और आफताब के अलावा इस घटनाक्रम के तीसरे अहम किरदार बद्री की तलाश नहीं कर पाई है। बद्री ही वह शख्स था, जो हिमाचल प्रदेश में आफताब और श्रद्धा से मिला था। उसी ने छतरपुर में किराए का मकान दिलाया था, लेकिन बद्री अपने किराए के मकान को खाली कर कहीं चला गया है। मकान मालिक ने बताया कि उसने बद्री का पुलिस से सत्यापन कराया था, लेकिन उसके पास बद्री से जुड़ी कोई जानकारी नहीं हैं और न ही कोई कागजात है। वहीं, इस फ्लैट पर आफताब भी बद्री से मिलने आता था। पुलिस के पास बद्री का फोन नंबर है, जो आफताब से मिला था। फिलहाल वह भी बंद है। पुलिस का मानना हैं कि बद्री के पास हत्याकांड से जुड़ी काफी जानकारी है। डेंटिस्ट से ली इलाज की रिपोर्ट : मुंबई गई दिल्ली पुलिस ने श्रद्धा के दांतों का इलाज करने वाले डॉक्टर से पूछताछ की। दरअसल, श्रद्धा ने अपने दो दांतों का रूट कैनाल ट्रीटमेंट कराया था। दिल्ली पुलिस ने डॉक्टर से इस बाबत जरूरी दस्तावेज ले कर अपने कब्जे में लिए और डाक्टर का बयान भी दर्ज कराया। वहीं, महरौली में मिले निचले जबड़े में भी रूट कैनाल ट्रीटमेंट के सबूत मिले हैं, इसलिए इसे श्रद्धा के सिर का हिस्सा माना जा रहा है। बद्री को नहीं ढूंढ़ सकी पुलिस : अभी तक पुलिस श्रद्धा और आफताब के अलावा इस घटनाक्रम के तीसरे अहम किरदार बद्री की तलाश नहीं कर पाई है। बद्री ही वह शख्स था, जो हिमाचल प्रदेश में आफताब और श्रद्धा से मिला था। उसी ने छतरपुर में किराए का मकान दिलाया था, लेकिन बद्री अपने किराए के मकान को खाली कर कहीं चला गया है। मकान मालिक ने बताया कि उसने बद्री का पुलिस से सत्यापन कराया था, लेकिन उसके पास बद्री से जुड़ी कोई जानकारी नहीं हैं और न ही कोई कागजात है। वहीं, इस फ्लैट पर आफताब भी बद्री से मिलने आता था। पुलिस के पास बद्री का फोन नंबर है, जो आफताब से मिला था। फिलहाल वह भी बंद है। पुलिस का मानना हैं कि बद्री के पास हत्याकांड से जुड़ी काफी जानकारी है।

Check Also

चारधाम यात्रा 2024: मई पहले सप्ताह से शुरू हो जाएगा यात्रियों का पंजीकरण

चारधाम यात्रा के लिए पर्यटन विभाग ने यात्रियों के पंजीकरण के लिए तैयारियां शुरू कर …