Thursday , April 18 2024

गोवा के एसपी आशीष कुमार का कहना- भ्रष्टाचार के प्रति जनता की सहनशीलता बहुत बड़ी

क्‍या गोवा भ्रष्‍टाचार मुक्‍त हो गया है? गोवा के एसपी (सीबीआई) आशीष कुमार का कहना है कि यहां पिछले 5 वर्षों से रिश्वतखोरी या आय से अधिक संपत्ति की एक भी शिकायत नहीं मिली है। इसका मतलब है कि गोवा में कोई भ्रष्टाचार नहीं है। भ्रष्टाचार के प्रति जनता की सहनशीलता बहुत बड़ी है। साथ ही आशीष कुमार ने कहा कि केंद्र सरकार के विभाग यहां भ्रष्ट नहीं हैं। बता दें कि गोवा में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है और प्रमोद सावंत मुख्‍यमंत्री हैं।

गोवा में कोई भ्रष्टाचार नहीं है

भाजपा नेता और सोशल मीडिया स्टार सोनाली फोगाट की पिछले दिनों गोवा के एक रिजॉर्ट में मौत हो गई थी। इसके बाद कई सवाल खड़े हुए थे, सोनाली फोगाट ने जिस रिजॉर्ट में ड्रग ली थी, उसे गिराने की कार्रवाई भी शुरू हो गई थी। प्रशासन पर भी कई सवाल उठे थे। इस मुद्दे पर जब आशीष कुमार से सवाल किया गया, तो उन्‍होंने कहा, ‘देखिए, मुझे गोवा में किसी भी भ्रष्ट गतिविधि के बारे में कभी कोई फोन नहीं आया, जिसमें मेरा सहयोग मांगा गया हो। यहां तक कि न जनता से और न ही मीडिया से ऐसी कोई मांग की गई। सीबीआई का नियमित काम भ्रष्टाचार विरोधी है, न कि (सोनाली) फोगाट मामला या कुछ और। गोवा में कोई भ्रष्टाचार नहीं है और यहां हमारी जरूरत नहीं है।

गोवा में 2018 में मिली थी पिछली शिकायत

दरअसल, 31 अक्टूबर से 11 नवंबर तक देशभर में सतर्कता जागरूकता सप्ताह समारोह चल रहा है। इस दौरान एक कार्यक्रम में एसपी (सीबीआई) ने कहा, ‘हम गोवा में बेकार बैठे हैं, क्योंकि यहां भ्रष्‍टाचार है ही नहीं। पिछली शिकायत 2018 में आई थी। यही वजह है कि हमारे यहां सिर्फ 5 जांच अधिकारी हैं, क्योंकि काम ही नहीं है। यहां हमारा सिर्फ एक छोटा-सा ऑफिस है। भविष्‍य में अगर मामलों में इजाफा होता है, तो गोवा में और अधिकारी तैनात किए जा सकते हैं। हालांकि, अभी तो यहां के हालात एकदम सामान्‍य हैं। आशीष कुमार ने कहा कि अगर कोई मामला किसी शख्‍स के सामने आता है, तो उसे बिल्‍कुल भी घबराने की जरूरत नहीं है। सीबीआई लिखित शिकायत के बिना मौखिक सूचना पर भी कार्रवाई करती है। शिकायतकर्ताओं को निडर होकर आगे आना चाहिए।

Check Also

चुनाव आयोग ने दिए मुर्शिदाबाद के DIG को हटाने के निर्देश

चुनाव आयोग ने बताया कि एक मार्च से अबतक हर दिन 100 करोड़ रुपये जब्त …