Friday , April 19 2024

अर्थव्यवस्था के जानकार बता रहे भारत को ब्राइट स्पॉट: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि यह दौर अर्थव्यवस्था और अनिश्चितता का है, लेकिन तमाम देश एक बात को लेकर आश्वस्त हैं कि भारतीय अर्थव्यवस्था के आधार मजबूत है। यह भले ही वैश्विक संकट का दौर है, लेकिन दुनियाभर के विशेषज्ञों, विश्लेषक और अर्थव्यवस्था के जानकार भारत को ब्राइट स्पॉट बता रहे हैं।   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज कर्नाटक ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट 2022 का उद्घाटन किया। इस मौके पर पीएम मोदी ने वर्चुअली संबोधित करते हुए कहा कि यह वो जगह हैं जहां हर तरफ प्राकृति और संस्कृति का अद्भुत संगम है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार यानी 2 नवंबर को कर्नाटक में आयोजित वैश्विक निवेशक सम्मेलन ‘इन्वेस्ट कर्नाटक-2022’ का उद्घाटन किया। सत्र को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि संकट के दौर में भी पूरी दुनिया भारत की ओर उम्मीद भरी नजरों से देख रही है, क्योंकि पूरी दुनिया आश्वस्त है कि भारत की अर्थव्यवस्था फंडामेंटल है। इन्वेस्टर्स से उन्होंने कहा कि हमने देश में रेड कारपेट का माहौल बनाया। पीएम मोदी ने कहा कि यह वो जगह हैं जहां हर तरफ प्राकृति और संस्कृति का अद्भुत संगम है। ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट में दुनिया के कोने से आए सभी साथियों का भारत में स्वागत है। आपका कर्नाटक के बेंगलुरु में स्वागत है। यह वो जगह है जहां परंपरा भी है और तकनीकी भी है।

पीएम मोदी ने कहा- टेलेंट और टेक्नोलॉजी नाम है ब्रांड बेंगलुरु

पीएम नरेंद्र मोदी ‘इन्वेस्ट कर्नाटक 2022’ के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि इस दौरान उन्होंने कहा कि जब भी टेलेंट और टेक्नोलॉजी की बात आती है, तो दिमाग में जो नाम सबसे पहले आता है, वो है ब्रांड बेंगलुरु… और ये नाम सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में स्थापित हो चुका है।

पीएम मोदी ने कहा- निवेशकों के लिए रेड कर्पेट का माहौल बनाया

इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि हम निवेशकों को रेट टेप के जाल में उलझाने के बजाय रेड कार्पेट का माहौल बनाया है। हमने नए-नए उलझाऊ कानून बनाने के बजाय उन्हें युक्तिसंगत बनाया है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत के युवा बीते वर्षों में अपने यहां 100 से ज़्यादा यूनिकॉर्न बना चुके हैं। भारत में 8 साल में 80, 000 से ज़्यादा स्टार्टअप्स बने हैं। हमारा मकसद उत्पादकता को बढ़ाना भी है और ह्यमन केपिटल को मजबूत करना भी है।

इनवेस्ट कर्नाटक 2022-ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट में ये हुए शामिल

वक्ताओं में अन्‍य लोगों के अलावा कुमार मंगलम बिड़ला, सज्जन जिंदल, विक्रम किर्लोस्कर सहित उद्योग जगत के कुछ शीर्ष नेता शामिल हैं। इसके साथ ही, तीन सौ से अधिक प्रदर्शकों के साथ कई व्यावसायिक प्रदर्शनियां और देश के सत्र समानांतर रूप से चलेंगे। देश के सत्रों की मेजबानी अलग-अलग -जर्मनी, नीदरलैंड, दक्षिण कोरिया, जापान और ऑस्ट्रेलिया करेंगे जो अपने-अपने देशों से उच्चस्तरीय मंत्रिस्तरीय और औद्योगिक प्रतिनिधिमंडल ला रहे हैं।
 

5,000 से अधिक वैश्विक प्रतिनिधि शामिल होंगे

उद्योग मंत्री मुरुगेश आर. निरानी ने बताया कि ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट मजबूत औद्योगिक-अनुकूल पारिस्थितिकी तंत्र का प्रदर्शन करेगा, वैश्विक खिलाड़ियों से निवेश आकर्षित करेगा, और राज्यभर में औद्योगीकरण का प्रसार करेगा। राज्य को इस आयोजन के माध्यम से निवेश में 5 लाख करोड़ रुपये से अधिक और 5 लाख नौकरियों के सृजन की उम्मीद है। कर्नाटक भारत और दुनिया भर के विभिन्न व्यापारिक घरानों के साथ साझेदारी करने पर विचार कर रहा है।हम उम्मीद कर रहे हैं कि बैठक में भाग लेने के लिए लगभग 5,000 से अधिक वैश्विक प्रतिनिधि आएंगे। यह समकालीन विषयों के साथ जीआईएम वैश्विक नेताओं के साथ जुड़ने, सहयोग करने और नेटवर्क बनाने का एक अवसर होगा।

Check Also

यूपी: बसपा ने तीसरे चरण के चुनाव के लिए जारी की स्टार प्रचारकों की सूची

बसपा ने लोकसभा चुनाव 2024 के तीसरे चरण के प्रचार के लिए 40 स्टार प्रचारकों …