Friday , April 19 2024

नेपाल: माउंट मानसलू के बेस कैंप में भीषण हिमस्खलन के आने के बाद से सर्च ऑपरेशन जारी

नेपाल के माउंट मानसलू में भीषण हिमस्खलन बेस कैंप से टकराया है। पिछले हफ्ते भी हिमस्खलन की चपेट में आने से दो पर्वतारोहियों की मौत हो गई थी। वहीं 12 घायल हुए थे।
गौरतलब है कि लापता अमेरिकी पर्वतारोही हिलेरी नेल्सन बुधवार को मृत पाई गई थी। शिविर IV के ठीक नीचे के मार्ग में हिमस्खलन की चपेट में आने से घटना हुई थी। इसके अलावा सेवन समिट ट्रेक्स, सटोरी एडवेंचर, इमेजिन नेपाल ट्रेक्स, एलीट एक्सपीडिशन और 8Kएक्सपेडिशन के शेरपा पर्वतारोही भी घायल हो गए थे।

हेलिकॉप्टर के जरिए चलाया गया सर्च ऑपरेशन

पिछले हफ्ते माउंट मानसलू में भीषण हिमस्खलन के आने के बाद हेलिकॉप्टर के जरिए इलाके में रेस्क्यू और सर्च ऑपरेशन चलाए गए। हालांकि, खराब मौसम होने के कारण रेस्क्यू ऑपरेशन में दिक्कतें भी आ रही है। एवरेस्ट की चढ़ाई कर रहे पर्वतारोहियों के लिए बेस कैंप लगाए जाते हैं जो हिमस्खलन की चपेट में आने का बाद पूरी तरह तबाह हो गए है। शुक्रवार तक नेपाल सरकार ने 58 अलग-अलग टीमों के 506 पर्वतारोहियों को चढ़ाई करने की अनुमति दी थी। हालांकि, बर्फबारी के कारण रास्ते पूरी तरह से खराब हो गए और कई नए रास्तों पर बर्फ भी जम गए जिससे फिसलन काफी ज्यादा बढ़ गई।

किन टीमों के पर्वातारोही हुए थे घायल

इमेजिन नेपाल ट्रेक्स टीम में शामिल 5 लोग हिमस्खलन की चपेट में आए थे वहीं 2 की हालक गंभीर बनी हुई थी। सटोरी एडवेंचर्स टीम के 3 सदस्य घायल हुए वहीं एक की हालत गभीर है। भीषण हिमस्खलन से भारतीय पर्वतारोही बलजीत कौर और उनके गाइड को भी गंभीर चोटें आईं है, हालांकि दोनों ही सुरक्षित हैं।

Check Also

‘सिक लीव कल्‍चर’ से परेशान हुए पीएम ऋषि सुनक

Rishi Sunak ब्रिटेन के पीएम ऋषि सुनक स्थायी रूप से वर्क फोर्स से बाहर हो …