Monday , May 20 2024

काशी विश्वनाथ, काल भैरव मंदिर और महामृत्युंजय महादेव के अखिलेश यादव ने किए दर्शन

वाराणसी। सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव वाराणसी में शुक्रवार देर शाम मेगा रोड शो के बाद शनिवार सुबह काशी के मंदिरों में मत्था टेका। महामृत्युंजय मंदिर और बाबा काल भैरव के दरबार में हाजिरी लगाकर यूपी चुनाव में जीत का आशीर्वाद मांगा।

सपा के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को सौंपा पत्र, की ये मांग

इस दौरान सपा के दक्षिणी प्रत्याशी किशन दीक्षित और बड़ी संख्या में सपा समर्थक व कार्यकर्ता भी उनके साथ मौजूद रहे।

कालभैरव मंदिर में की पूजा

अखिलेश ने कालभैरव मंदिर में विधिवत दर्शन-पूजन कर बाबा का आशीर्वाद लिया। इसके बाद अखिलेश यादव कालभैरव मंदिर से महामृत्युंजय मंदिर तक पैदल ही गए।

यूक्रेन-रूस जंग की स्वतंत्र आयोग से जांच कराने वाली वोटिंग से भारत ने खुद को किया अलग

उन्होंने दर्शन-पूजन कर बाबा का चरणामृत ग्रहण किया और आशीर्वाद लिया। इसके बाद मंदिर परिसर का भ्रमण किया।

अखिलेश यादव का गर्मजोशी के साथ स्वागत

सपा कार्यकर्ताओं में अखिलेश यादव से मिलने और उनके साथ सेल्फी लेने की होड़ मची थी। सपा प्रमुख ने भी पार्टी के कार्यकर्ताओं का गर्मजोशी से अभिवादन किया और विधानसभा चुनाव 2022 में पूर्ण बहुमत से उत्तर प्रदेश में सपा की सरकार आने की बात कही।

पीएम मोदी के भव्य रोड शो ने यूपी में भाजपा को जीत सुनिश्चित कराने का कार्य किया : विकास प्रीतम सिन्हा

काशी के कोतवाल कहे जाने वाले बाबा काल भैरव मंदिर की गलियों में अखिलेश यादव ने स्थानीय लोगों से मुलाकात भी की। इससे पहले शुक्रवार रात अखिलेश यादव ने श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचे थे।

उन्होंने विधिवत दर्शन- पूजन कर बाबा से जीत का आशीर्वाद लिया। आज शाम चुनाव प्रचार खत्म होने से पहले अखिलेश पूर्वांचल के अलग-अलग जिलों में जनसभा को संबोधित करेंगे।

सपा के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को सौंपा पत्र, की ये मांग

बाबा की नगरी में अखिलेश का दिख रहा अलग अंदाज

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का काशी में अलग रूप देखने को मिल रहा है। शुक्रवार देर शाम रोड शो के दौरान अखिलेश त्रिशूल और डमरू के साथ लोगों से रूबरू हुए। माना जा रहा है कि इससे सपा हर हाल में हिंदू मतों में सेंधमारी करने की कोशिश करेगी।

काशी में राजनीतिक पारा सातवें चरण के चुनाव से पहले ही सातवें आसमान पर पहुंच गया है। 54 सीटों पर होने वाले चुनाव में जातीय समीकरण बहुत मायने रखने वाला है। यही कारण है कि जिस पार्टी को जहां मौका मिल रहा है, वह जातीय समीकरण को साधने में लगी हैं। अखिलेश भी इसमें पीछे नहीं हैं।

महादेव की नगरी वाराणसी में पीएम मोदी का मेगा रोड शो, पटेल की मूर्ति को चढ़ाई माला

शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने रोड शो के दौरान काशी विश्वनाथ धाम में डमरू बजाया तो वहीं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इसके जवाब में हाथ में बाबा का त्रिशूल और डमरू लेकर काशी की जनता का दिल जीत लिया।

समर्थक भी अखिलेश के इस नए अंदाज को देख खुश दिखे। रथयात्रा चौराहे से लेकर निकलकर गिरजाघर तक जाने के दौरान अखिलेश यादव ने बीच-बीच में त्रिशूल और डमरू कई बार बाहर निकाला। इस दौरान समर्थक हर-हर महादेव का जयघोष करते दिखे।

मऊ में अखिलेश ने कहा- हम भर्ती निकालेंगे और यूपी में युवाओं को रोजगार देंगे, भाजपा पर बोला हमला

Check Also

वाराणसी: आदि विश्वेश्वर की पूजा अर्चना के दाखिल अर्जेंट वाद पर सुनवाई आज

आदि विश्वेश्वर की पूजा अर्चना के लिए दाखिल अर्जेंट वाद पर रविवार यानी आज सिविल …