Thursday , May 23 2024

अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर साधा निशाना : किसान और गरीब आदमी का भाजपा राज में गुजर-बसर करना सम्भव नहीं

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि किसान और गरीब आदमी को भाजपा राज में गुजर-बसर करना सम्भव नहीं रह गया है। बढ़ती महंगाई और सरकारी कुनीतियों के चलते सभी परेशान हैं।

प्रियंका गांधी बोलीं- नई ऊर्जा, युवा ऊर्जा, महिला सशक्तिकरण, सामाजिक न्याय की बुलंद आवाज़ के प्रतीक हैं हमारे प्रत्याशी

भाजपा की डबल इंजन सरकारों से जो धोखा मिला है उससे अब जनता ने भाजपा का सफाया करना तय कर किया है। प्रदेश में बदलाव की हवा बह रही है और सभी मान रहे है कि समाजवादी पार्टी ही एक मात्र विकल्प है जिसका बहुमत में आना और सरकार बनाना भी सुनिश्चित है।
     
महंगाई दोगुनी कर किसानों को बेहाल कर दिया

सन् 2022 में किसानों की आय दोगुनी करने का वादा करने वाली भाजपा सरकार ने महंगाई दोगुनी कर किसानों को बेहाल कर दिया है। खाद, बीज, महंगे डीजल और बिजली के बाद बेमौसम बरसात और ओलावृष्टि की मार से किसान तबाह है। मुआवजे की आस से सरकार की ओर टकटकी लगाए किसान देख रहा है पर संवेदन शून्य मुख्यमंत्री जी को ज्यादा फिक्र चुनाव की पड़ी है।

सीएम योगी ने दी मकर संक्रांति की शुभकामनाएं, कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील

खरीफ के बाद रबी की फसल भी नष्ट होने से किसान बैंकों के कर्जदार हो गए है। दलहन की फसलं पूर्णतया नष्ट हो चुकी है जबकि अन्य फसलों का भी 60 प्रतिशत नुकसान हो चुका है। ओलावृष्टि के दिन तो कई किसानों के घर चूल्हें भी नहीं जले। किसान भी इंतजार कर रहा है क्योंकि वह जानता है कि उसकी भरपाई समाजवादी सरकार में ही होगी।

खाद्य कीमतें बढ़ने से खुदरा महंगाई 6 माह के रिकार्ड स्तर पर पहुंची

गरीब और मध्यम वर्ग के उपयोग की सभी चीजें कपड़ा, तेल, चीनी, सब महंगे हो गए है। 100 दिन में महंगाई कम करने के वादे के साथ आने वालों ने महंगाई सौ गुना बढ़ा दिया है। खाद्य कीमतें बढ़ने से खुदरा महंगाई 6 माह के रिकार्ड स्तर पर पहुंच गई है। दिसम्बर से तेल के दाम 24.32 प्रतिशत तक बढ़े हैं। ईंधन व बिजली 13.35 प्रतिशत महंगी है। इलेक्ट्रिक सामान भी महंगे हुए है।

यूपी चुनाव से ठीक पहले 3 कैबिनेट मंत्री और 11 विधायकों ने बीजेपी से दिया इस्तीफा

भाजपा ऐसी धोखेवाली पार्टी है जो किसानों की फसलों का लागत मूल्य भी नहीं दिला पाई। तीन कृषि कानून लागत किसानों को बर्बाद करने की साजिश रची गई। आखिरकार वोट के लिए भाजपा ने तीन कृषि कानून वापस लिए। भाजपा ने सपा सरकार के दौरान मंडी के लिए जो काम हो रहे थे उसे रोक दिया। मंडियों को बर्बाद कर दिया। किसान भाजपा से अपने मान सम्मान का बदला लेगा।

बीजेपी ने बेरोजगारी घटाने के लिए कोई काम नहीं किया

बीजेपी सरकार में हर वर्ग के साथ अन्याय और भेदभाव हुआ। दिल्ली से भाजपा के जो लोग यहां आते हैं वह महंगाई बेरोजगारी अन्याय और भेदभाव पर बात नहीं करते हैं। बीजेपी ने बेरोजगारी घटाने के लिए कोई काम नहीं किया। इन्वेस्टमेंट के नाम पर बड़े-बड़े इन्वेस्टर मीट हुए लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकला।

आयुष मंत्री धर्म सिंह सैनी के इस्तीफे की अटकलें तेज, सरकारी आवास और सरकार से मिली सुरक्षा को छोड़ा

प्रदेश में कहीं कोई नया कारखाना नहीं लगा। भाजपा की डबल इंजन की सरकार ने कोई काम नहीं किया। यह डबल इंजन आपस में टकराते रहे हैं। जनता भाजपा के झूठ और धोखे को समझ चुकी है। अब वह भाजपा को दोबारा सत्ता में नहीं आने देगी।

Check Also

काशी में 1200 छात्र-छात्राओं ने बनाई मानव श्रृंखला

लोकसभा चुनाव को लेकर छात्र- छात्राओं ने मतदाताओं को मतदान के लिए जागरूक करने के …