Saturday , May 25 2024

Air Pollution: प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने आयोग को दिए आदेश, समाधान के लिए मांगे सुझाव

नई दिल्ली। पहाड़ों में जहां बर्फबारी हो रही है. तो वहीं दिल्ली में प्रदूषण की मार से लोग परेशान है. वहीं सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग को दिल्ली और नेशनल कैपिटल रीजन यानी एनसीआर में वायु प्रदूषण की समस्या से निजात पाने के स्थायी समाधान के लिए जनता और विशेषज्ञों से सुझाव मांगने के निर्देश दिए.

Omicron Variant: दिल्ली में बढ़ा खतरा, ओमिक्रोन तेजी से पसार रहा पांव

उद्योगों पर लगी पाबंदियां हटाने का निर्णय

चीफ जस्टिस एन वी रमणा, जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ और जस्टिस सूर्यकांत की बेंच ने आयोग की ओर से दाखिल एक रिपोर्ट पर गौर किया, जिसमें कोर्ट को बताया गया था कुछ उद्योगों पर लगी पाबंदियां हटाने का निर्णय लिया गया है.

समाधान के लिए मांगे सुझाव

बेंच ने कहा कि, समिति की रिपोर्ट में उठाए गए कदमों की जानकारी है. निर्माण से जुड़ी गतिविधियों पर कहा गया है कि, इस संबंध में निर्णय शुक्रवार को लिया जाएगा. फरवरी के पहले सप्ताह में इस मामले पर सुनवाई होगी. इस बीच हम आयोग को निर्देश देते हैं कि, वह प्रदूषण की समस्या से निजात पाने के लिए स्थायी समाधान के वास्ते जनता और विशेषज्ञों से सुझाव मांगे.

योगी सरकार ने पेश किया 8479 करोड़ रुपये का अनुपूरक बजट, सूचना विभाग को मिले 150 करोड़

आज भी वायु गुणवत्ता ‘बेहद खराब’ श्रेणी में रही

केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के मुताबिक, गुरुवार को भी वायु गुणवत्ता ‘बेहद खराब’ श्रेणी में रही. सुबह आठ बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 350 दर्ज किया गया, जबकि बुधवार को यह 363 था. शून्य और 50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 और 500 के बीच ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है.

Check Also

दिल्ली विश्वविद्यालय में कई जगह लिखे दिखे चुनाव बहिष्कार के नारे, पुलिस ने एफआईआर की दर्ज

दिल्ली विश्वविद्यालय में कई स्थानों पर दीवारों पर चुनाव बहिष्कार के नारे लिखे पाए जाने …