Sunday , June 16 2024

कानपुर : मृतक कारोबारी मनीष गुप्ता के परिजनों से मिले अखिलेश यादव, योगी सरकार पर बोला हमला, की ये मांग

कानपुर। गोरखपुर में पुलिस की पिटाई से कानपुर के कारोबारी मनीष की मौत का मामला अब सियासी रंग पकड़ चुका है. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव मृतक के परिजनों से मिलने कानपुर पहुंचे. और भारी बवाल के बीच अखिलेश यादव पीड़ित परिजनों से मिले.

आज का पंचांग और राशिफल : ये राशि वाले रहे सावधान, वरना होगी परेशानी, जानें अपना राशिफल ?

परिजनों से पता चला पुलिस ने मनीष की हत्या की- अखिलेश

बता दें कि, अखिलेश यादव के साथ आई भीड़ को परिजनों ने अंदर आने की इजाजत नहीं दी गई. पीड़ित परिजनों से मुलाकात के बाद अखिलेश यादव ने मीडिया से बातचीत में बताया कि, परिजनों को पता चला कि, पुलिस ने मनीष की हत्या की है.

योगी सरकार में पुलिस लोगों की जान ले रही

पुलिस की जिम्मेदारी है ,कि लोगों की सुरक्षा मिले. लेकिन उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार में पुलिस सुरक्षा नहीं कर रही है, बल्कि लोगों की जान ले रही है.

भारत को ‘हिंदू राष्ट्र’ घोषित नहीं किया तो ले लूंगा जल समाधि, जगदगुरु परमहंस ने दी चेतावनी

उन्होंने आगे कहा कि, उत्तर प्रदेश में पुलिस का ऐसा व्यवहार किसी की सरकार में देखने को नहीं मिला. योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री होने के बावजूद ऐसी घटनाएं लगातार हो रही है. ऐसी सरकार में अगर कार्रवाई हुई होती तो मनीष गुप्ता जी को आज अपनी जान नहीं गंवाना पड़ता.

‘पुलिस लूट और हत्या में शामिल है’

अखिलेश ने आगे जिक्र किया कि, झांसी में ही ऐसी घटना हुई थी पुष्पेंद्र यादव की. इनकी जान भी पुलिस ने ली थी. पुलिस लगातार भाजपा की सरकार में लूट और हत्या में शामिल है. यह तभी संभव है जब सरकार की नियत साफ ना हो.

योगी सरकार ने दी राहत : अब खुले स्थानों पर शादी में जितने चाहें बुला सकेंगे मेहमान

सरकार की पहले दिन से कानून व्यवस्था पर नियत साफ नहीं रही है. सबसे ज्यादा कस्टोडियल डेथ भाजपा सरकार में हो रही है.सबसे ज्यादा नोटिस एनएचआरसी ने दिए हैं.

समाजवादी पार्टी ने की ये मांग

समाजवादी पार्टी की मांग है कि इसकी जांच हो और सिटिंग जज हाई कोर्ट के हो. उनकी मॉनिटरिंग में घटना की जांच हो. जो दोषी अधिकारी हैं, जो दोषी सिपाही है या और संबंधित लोग हैं उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिले.

‘सबूतों को पुलिस ने मिटा दिया है’

अखिलेश ने बताया कि, जिस होटल में व्यापारी रुके. वहां पीड़ित परिवार गया तो पाया कि पूरे के पूरे सबूत मिटा दिए गए हैं. सरकार को पीड़ित परिवार को दो करोड़ रुपये की आर्थिक मदद करनी चाहिए.

नरेंद्र गिरि के उत्तराधिकारी होंगे बलबीर गिरि, षोडशी पर हो सकता है औपचारिक एलान

समाजवादी पार्टी भी 20 लाख रुपए पीड़ित परिवार को मदद के तौर पर देगी. मृतक की पत्नी पढ़ी लिखी है इसलिए उन्हें क्लास वन या क्लास 2 की नौकरी सरकार को देनी चाहिए.

‘सरकार जब प्रशासन से गलत काम कराएगी तो यही होगा’

अखिलेश ने योगी सरकार पर वार करते हुए कहा कि, जब आप पुलिस और डीएम से गलत काम कराओंगे तब अंजाम यही होगा. पुलिस और अधिकारियों पर इसीलिए कार्रवाई नहीं हो रही है क्योंकि सरकार ने इन्हीं से गलत काम कराएं हैं.

‘सीबीआई जांच या हाई कोर्ट के सिटिंग जज की निगरानी में जांच ना हो’

जिन्होंने यह घटना की है यह मामूली लोग नहीं है मुझे जानकारी मिली है कि उन्नाव में भी इसी प्रकार की घटनाएं हुई हैं. गोरखपुर में भी इसी प्रकार की घटना हुई है. तब तक न्याय मिलना मुश्किल है जब तक सीबीआई जांच या हाई कोर्ट के सिटिंग जज की निगरानी में जांच ना हो.

आज का पंचांग और राशिफल : जानिए क्या कहते है आपके सितारे, कैसा बीतेगा बुधवार ?

सीएम योगी ने उठाए सख्त कदम

वहीं सीएम योगी आदित्यनाथ ने दागी पुलिसकर्मियों की जांच करवाकर बर्खास्त करने के आदेश दिए हैं. टीम 9 की मीटिंग में यह फैसला लिया गया.

Check Also

बरेली: पुराने शहर की 13 व्यावसायिक इमारतें बीडीए के रडार पर

बरेली में करीब चार से पांच बड़े कांप्लेक्स समेत स्कूल, मैरिज हॉल व व्यावसायिक बिल्डिंगों …