Monday , May 20 2024

बलवीर गिरि होंगे महंत नरेंद्र गिरि के उत्तराधिकारी, गुरुवार को किया जाएगा औपचारिक ऐलान

प्रयागराज। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध मौत के बाद उनके असल उत्तराधिकारी का नाम भी सामने आ गया है. बलवीर गिरि महंत नरेंद्र गिरि के उत्तराधिकारी होंगे. वो तकरीबन 15 साल पुराने शिष्य हैं. महंत नरेंद्र गिरि ने बलबीर गिरि को हरिद्वार आश्रम का प्रभारी बनाया हुआ था. महंत ने अपनी वसीयत में बलबीर गिरि को उत्तराधिकारी घोषित किया है.

नरेंद्र गिरि ने जो सुसाइड नोट छोड़ा है उसमें उन्होंने अपने शिष्य बलबीर गिरि को अपना उत्तराधिकारी बताया है. मरने के पहले उन्होंने लिखा कि उनकी अंतिम इच्छा यही है कि मठ बाघम्बरी गद्दी और बड़े हनुमान मंदिर का महंत बलबीर गिरी को बनाया जाये. इसके लिए उन्होंने निरंजनी अखाड़े के सचिव रविंद्र पुरी महराज से अनुरोध करने हुए लिखा कि जो वह अब तक उनका सहयोग करते रहे हैं, इस इच्छा को भी जरुर पूरा करेंगे.

महंत नरेंद्र गिरि का सुसाइड नोट आया सामने, आनंद गिरि पर लगाए चरित्र हनन के आरोप

जानिए कौन हैं बलवीर गिरि

बतादें कि आनंद गिरि और बलवीर गिरि दोनों तकरीबन एक ही समय में महंत नरेंद्र गिरि के शिष्य बने थे. लेकिन बलवीर गिरि सबसे प्रिय शिष्यों में एक थे. आनंद गिरि के निष्कासन के बाद बलवीर गिरि ही नंबर दो की हैसियत रखते थे. सीएम योगी आदित्यनाथ के आने पर बलवीर गिरि ही उनके ठीक बगल में बैठे थे.

उत्तराखंड के रहने वाले हैं बलवीर
बलवीर मूल रूप से उत्तराखंड के रहने वाले हैं. वह 2005 में वो संत बने थे. बता दें कि आनंद गिरि के निष्कासन के बाद बलवीर ही नंबर दो की हैसियत रखते थे. अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद और पंच परमेश्वर ने भी आज बलवीर गिरी को अपना आशीर्वाद दिया है.

महंत नरेंद्र गिरि की मौत मामले में जांच जारी, एक महंत ने आनंद गिरि को बताया हिस्ट्रीशीटर

गुरुवार को किया जाएगा औपचारिक ऐलान

गुरुवार को महंत नरेंद्र गिरी का अंतिम संस्कार होने के बाद बलवीर गिरी के नाम का औपचारिक ऐलान किया जाएगा. बलवीर लगातार उसी कमरे में बैठे हुए हैं, जिसमें महंत नरेंद्र गिरी का पार्थिव शरीर रखा हुआ है. गौरतलब है कि मंहत ने सुसाइड नोट में उन्होंने बलवीर गिरी के नाम पर वसीयत करने की भी बात लिखी. इसके साथ ही उन्होंने लिखा कि प्रिय बलवीर मठ मंदिर की व्यवस्था का प्रयास वैसे ही करना, जैसे मैंने किया है. साथ ही आशुतोष गिरी, नितेश गिरि और मंदिर के सभी महात्माओं को बलवीर का सहयोग करने को कहा है.

महंत नरेंद्र गिरी के मौत मामले में एसआईटी का गठन

यूपी सरकार द्वारा महंत नरेंद्र गिरि के मौत मामले में एसआईटी का गठन किया गया है. महंत नरेंद्र गिरि केस की जांच के लिए DIG प्रयागराज ने SIT बनाई है. डिप्टी SP की अगुवाई में यह एसआईटी बनी. बता दें कि नरेंद्र गिरि का समाधि संस्कार परसो यानी गुरुवार को होगा. कल संत समाज और अखाड़ा परिषद की बैठक होगी. बैठक कल सुबह 10 होगी.

दो महीने बाद जेल से रिहा हुए शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा, रयान थोर्प को भी मिली रिहाई

महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी

महंत नरेंद्र गिरि की सोमवार को संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी. उनका शव अल्लापुर स्थित बाघंबरी मठ स्थित उनके आवास में पंखे पर लटका मिला था. मठ को सील कर दिया गया है. पुलिस ने वहां से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है.

जल्द देश के 13 उच्च न्यायालयों को मिलेंगे नए मुख्य न्यायाधीश, कोलेजियम ने केंद्र को भेजे नाम

Check Also

वाराणसी: आदि विश्वेश्वर की पूजा अर्चना के दाखिल अर्जेंट वाद पर सुनवाई आज

आदि विश्वेश्वर की पूजा अर्चना के लिए दाखिल अर्जेंट वाद पर रविवार यानी आज सिविल …