Wednesday , May 22 2024

लोकसभा चुनाव 2024: पीलीभीत में मंडी परिसर से पोलिंग पार्टियों की रवानगी की प्रक्रिया शुरू

पीलीभीत जिले में 19 अप्रैल यानि शुक्रवार को पहले चरण में लोकसभा चुनाव के लिए मतदान है। लोकतंत्र के महापर्व में मतदान कराने की जिम्मेदारी संभालने वाले मतदान कार्मिक बृहस्पतिवार सुबह आठ बजे से मंडी समिति परिसर पहुंचने लगे। यहां से उनकी रवानगी की प्रक्रिया शुरू हो गई।

पीलीभीत जिले में लोकसभा चुनाव का मतदान कराने के लिए मंडी परिसर से पोलिंग पार्टी रवानगी की प्रक्रिया शुरू हो गई है। बृहस्पतिवार सुबह आठ बजे से कार्मिकों को उनकी ड्यूटी वितरित की जाने लगी। ड्यूटी वितरण विधानसभा वार किया जा रहा है। कार्मिकों की सुविधा के लिए ड्यूटी सूची भी चस्पा की गई है। जिले में 1521 बूथों पर मतदान होना है। प्रशासन ने पोलिंग पार्टियों की रवानगी के सभी इंतजाम एक दिन पहले ही पूरे कर लिए। विधानसभा क्षेत्रवार ड्यूटी पत्र वितरण की व्यवस्था की गई। कार्मिकों को दवा किट और अन्य सामग्री भी दी जा रही है।

मतदान की तैयारियों को लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी संजय कुमार सिंह ने बताया कि पीलीभीत जिले में मतदाताओं की संख्या 14,61,062 है। वहीं बहेड़ी विधानसभा क्षेत्र में 3,70,637 मतदाता हैं। जिले में 958 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। सभी मतदेय स्थलों पर पोलिंग पार्टियों के ठहरने के लिए इंतजाम पूरेे किए जा चुके हैं।

पीलीभीत- बहेड़ी लोकसभा से कुल 10 प्रत्याशी चुनाव मैदान हैं। मतदान के लिए बुधवार की शाम पांच बजे के बाद प्रचार बंद करा दिया गया है। सुरक्षा के लिहाज से स्थानीय पुलिस के साथ ही अर्धसैनिक बल को भी लगाया गया है। उप जिला निर्वाचन अधिकारी ऋतु पूनिया ने बताया मतदान के लिए 1674 पार्टियों हैं। इसमें 153 रिजर्व में रखी गई हैं। 1521 बूथ बनाए गए हैं। दोपहर के समय डीएम संजय कुमार सिंह ने पोलिंग पार्टी रवानगी स्थल पर तैयारियों का जायजा भी लिया।

हर विधानसभा क्षेत्र में नियुक्त किए सुपर जोनल मजिस्ट्रेट
शांतिपूर्ण और निष्पक्ष मतदान के लिए जिले में 14 जोनल तथा 102 सेक्टर मजिस्ट्रेटों को नियुक्त किया गया है। इसके अलावा विधानसभावार एक- एक सुपर जोनल मजिस्ट्रेट के रूप में अधिकारियों को नामित किया गया है।

तीस स्वास्थ्य कर्मियों की लगाई गई 10 टीमें
पोलिंग पार्टी रवाना होने के दौरान कर्मियों की सेहत को लेकर स्वास्थ्य विभाग की टीम भी सक्रिय कर दी गई हैं। सीएमओ डॉ. आलोक कुमार ने बताया मंडी में तीन-तीन स्वास्थ्य कर्मियों की 10 टीमों को लगाया गया है। इसके साथ ही एंबुलेंस भी मौजूद रहेगी। उपचार के लिए आवश्यक दवाएं भी दे दी गई हैं।

मॉडल और विशेष बूथ
10-10 मॉडल बूथ बने हैं प्रत्येक विधान सभा क्षेत्र में।
02-02 विधानसभा वार पिंक बूथ बूथ बनाए गए हैं।
02-02 यूथ बूथ बनाए गए हैं।

दिव्यांग मतदाताओं के लिए भी विशेष बूथ बनाए गए हैं।
762 बूथों पर होगी वेब कास्टिंग।
261 बूथों को रखा गया है क्रिटिकल श्रेणी में।
51 बूथ हैं वल्नरेबल श्रेणी में।

Check Also

उत्तराखंड: देशभर में लागू होंगे एक जुलाई से ये तीन नए कानून

एक जुलाई से लागू होने वाले तीन नए कानून को लेकर उत्तराखंड की पूरी तैयारी …