Wednesday , May 22 2024

ईरान के हमले के दौरान सऊदी-जॉर्डन ने की इस्राइल की मदद

ईरान से इस्राइल की दूरी 1,000 किमी है और मिसाइल एवं ड्रोन को इस्राइल पहुंचने के लिए सऊदी अरब और जॉर्डन से होकर जाना पड़ता है। जॉर्डन ने बताया कि इस्राइल की तरफ ईरान ने जो मिसाइलें दागी, उसे उन्होंने मार गिराया था।

ईरान ने पिछले हफ्ते इस्राइल पर सैकड़ों मिसाइलों और ड्रोन से हमला किया। इस्राइल इन मिसाइलों को रोकने में कामयाब रहा, लेकिन अब इसे लेकर एक बड़ा खुलासा किया गया है। दरअसल, 13 अप्रैल को ईरान की तरफ से पहली बार इस्राइल पर मिसाइल हमला किया गया था, लेकिन बताया जा रहा कि ईरान के मिसाइलों को रोकने में पड़ोसी देश सऊदी अरब और जॉर्डन ने भी अहम भूमिका निभाई थी।

पिछले साल से जारी इस्राइल-हमास युद्ध को लेकर दोनों देशों ने इस्राइल की आलोचना की थी। अरब देश ने इस्राइल को इसके लिए गंभीर परिणाम भुगतने की भी चेतावनी दी थी, लेकिन ईरान के मिसाइल हमलों को रोकने के लिए सऊदी अरब और जॉर्डन सामने आए। सऊदी शाही परिवार ने बताया कि देश के पास ऐसी प्रणाली है जो संदिग्ध मिसाइलों को स्वचालित रूप से रोकती है। इस्राइल ने दावा किया कि उसने 99 फीसदी मिसाइलों को मार गिराया था।

सऊदी अरब और जॉर्डन ने की मदद
ईरान से इस्राइल की दूरी 1,000 किमी है और मिसाइल एवं ड्रोन को इस्राइल पहुंचने के लिए सऊदी अरब और जॉर्डन से होकर जाना पड़ता है। जॉर्डन, जिसने गाजा में हमलों को लेकर लगातार इस्राइल की आलोचना की, ने बताया कि इस्राइल की तरफ ईरान ने जो मिसाइलें दागीं, उसे जॉर्डन ने मार गिराया था। जॉर्डन ने बताया कि उन्होंने इस्राइल और अमेरिका के लड़ाकू विमानों के लिए अपने हवाईक्षेत्र खोल दिए थे।

जॉर्डन के एक पूर्व मंत्री ने कहा कि हमारी प्राथमिकता देश और लोगों की रक्षा करना है। उन्होंने कहा, जॉर्डन ने जो किया वह केवल अपने हवाईक्षेत्र को बचाने के लिए किया था। अमेरिकी अधिकारी ने कहा कि ईरान ने कई अरब देशों को हमले की जानकारी दी थी। अधिकारी ने कहा, अरब देशों ने तेहरान के हमले की योजना के बारे में खुफिया जानकारी दी। उन्होंने अपने हवाई क्षेत्र खोल दिए और अपने सुरक्षा बलों को मदद के लिए भेजा।

ज्यादातर मिसाइलों को अमेरिका ने मार गिराया: अमेरिकी सेना का दावा
सऊदी अरब और जॉर्डन के अलावा अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने भी ईरान के मिसाइलों को मार गिराने में इस्राइल की मदद की। अमेरिकी सेना ने दावा किया कि ईरान के ज्यादातर मिसाइलों को उन्होंने मार गिराया। बता दें कि ईरान ने शुक्रवार को इस्राइल पर करीबन 300 मिसाइलें दागीं। इसपर अमेरिकी सेना ने बताया कि उन्होंने 80 एकतरफा हमला रहित हवाई वाहनों के साथ छह बैलिस्टिक मिसाइलों को मार गिराया। इस्राइली सुरक्षा बलों ने बताया कि उन्होंने 25 क्रूज मिसाइलों को इस्राइल के बाहर ही रोक दिया था। बताया जा रहा है कि ईरान के अलावा यमन की तरफ से भी मिसाइल दागी गईं थी।

Check Also

इब्राहिम रईसी के हेलिकॉप्टर क्रैश के बाद ईरान की मदद से पीछे हटा अमेरिका

अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता मैथ्यू मिलर ने सोमवार को एक प्रेस ब्रीफिंग में कहा …