Sunday , April 21 2024

याकूब कुरैशी और उसके बेटे इमरान कुरैशी को पुलिस ने किया दिल्ली से गिरफ्तार…

वांटेड 50 हजार के इनामी पूर्व मंत्री याकूब कुरैशी और उसके बेटे इमरान कुरैशी को पुलिस ने दिल्ली के चांदनी महल थाना क्षेत्र से शुक्रवार रात करीब दो बजे गिरफ्तार कर लिया। दिल्ली में फ्लैट किराए पर लेकर साथ रह रहे थे। पुलिस की टीम दोनों को लेकर दिल्ली से मेरठ के लिए रवाना हो चुकी है। वहीं चर्चा है कि हाई कोर्ट से जमानत अर्जी खारिज होने के बाद सेटिंग के द्वारा सरेंडर कराया गया है।
खरखौदा और किठौर पुलिस ने 31 मार्च 2022 को हापुड़ रोड पर याकूब कुरैशी के बेटे इमरान की मीट फैक्ट्री पर दबिश देकर अवैध मीट पैकिंग का खुलासा किया था। याकूब, उनकी पत्नी संजीदा बेगम, बेटे फिरोज, इमरान, मैनेजर मोहित त्यागी सहित 17 लोगों को नामजद किया गया था। इस मामले में पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट कोर्ट में दाखिल करती है। कोर्ट में हाजिर नहीं होने के कारण पुलिस ने पहले याकूब और उसके परिवार पर 25 हजार का इनाम घोषित किया था। पुलिस ने एक माह पहले याकूब और उनके परिवार पर गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज किया। इसके बाद पुलिस ने याकूब के एक बेटे फिरोज को गाजियाबाद के एक कॉलोनी से गिरफ्तार दिखाया था। वहीं, याकूब और उसका बेटा इमरान फरार चल रहे थे, जिन पर पुलिस ने इनाम बढ़ाकर 50 हजार रुपये कर दिया था। हाईकोर्ट से भी हाजी याकूब की अग्रिम जमानत याचिका खारिज हो गई थी। पुलिस ने याकूब और इमरान को दिल्ली के चांदनी महल थाना क्षेत्र से एक फ्लैट से शुक्रवार देर रात गिरफ्तार कर लिया है। दोनों आरोपियों को खरखौदा थाने में रखा गया है। शनिवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। दो बार विधायक रह चुके याकूब  हाजी याकूब कुरैशी दो बार विधायक रह चुके। एक बार 2002 में खरखौदा विधानसभा सीट से विधायक रहे। वहीं 2007 में वे मेरठ शहर से विधायक चुने गए। बसपा सरकार में मंत्री भी रहे। कई बार लोकसभा और विधानसभा का चुनाव लड़े।

Check Also

उत्तराखंड: नैनीताल सीट पर 15 साल में सबसे कम मतदान

नैनीताल सीट पर 61.75 प्रतिशत मतदान हुआ। वर्ष-2019 लोकसभा चुनाव से तुलना करें तो इस …