Thursday , April 18 2024

माघ मेला में ड्यूटी करने वाले पुलिसकर्मियों को इस बात के लिए दिया जा रहा प्रशिक्षण, जानें वजह

प्रयागराज के माघ मेला में ड्यूटी करने वाले पुलिसकर्मियों को बुधवार से प्रशिक्षण देना शुरू कर दिया गया। उन्हें यातायात और क्राउड मैनेजमेंट के अलावा एक गाइड की तरह काम करने के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है। उनके आचरण और व्यवहार में बदलाव लाने की कोशिश की जा रही है। पुलिस अफसरों के अलावा विभिन्न विभागों के विशेषज्ञ उन्हें प्रशिक्षित करेंगे।

बाहर से ड्यूटी पर आए पुलिसकर्मियों ने बुधवार को माघ मेला पुलिस लाइन में आमद कराया। इनमें चार डिप्टी एसपी अब्दुल रज्जाक, इश्तेयाक अहमद, प्रेम प्रकाश और देवनारायण यादव शामिल हैं। अब तक 623 पुलिसकर्मी आ चुके हैं। इनके रहने के लिए पुलिस स्टेशन और पुलिस लाइन में बैरक बनाए जा चुके हैं। एसपी माघ मेला आदित्य शुक्ला और एडिशनल एसपी निवेश कटियार ने बुधवार को पुलिसकर्मियों को प्रशिक्षण दिया।

पुलिस ने पुलिसकर्मियों को बताया कि यहां पर ड्यूटी के दौरान सुरक्षा के प्रति सतर्कता के साथ सेवा भाव रखनी है। इसलिए सभी पुलिसकर्मियों को माघ मेला के प्रमुख मार्ग, पांटून पुल, धार्मिक स्थलों की जानकारी दी जा रही है। उन्हें मैप और मौके पर जाकर क्राउड मैनेजमेंट के बारे में समझाया जा रहा है।

छह से माघ मेला होगा शुरू 21 को मौनी अमावस्या  संगम की रेती में तंबुओं की नगरी आकार लेने लगी है। इस बार जनवरी के पहले सप्ताह से मध्य फरवरी तक संगम क्षेत्र में धर्म, अध्यात्म और आस्था की त्रिवेणी प्रवाहित होगी। एक सप्ताह बाद से तीर्थराज प्रयाग में श्रद्धालुओं का आना शुरू हो जाएगा।

पहला स्नान पर्व पौष पूर्णिमा छह जनवरी, शुक्रवार को है। इसी दिन से संगम में एक मास का कल्पवास शुरू होगा। ज्योतिषाचार्य पं. दिवाकर त्रिपाठी पूर्वांचली के अनुसार मकर संक्रांति का पर्व 15 जनवरी, रविवार को है। इस दिन सूर्य उत्तरायण होंगे। माघ मेला का मुख्य स्नान पर्व मौनी अमावस्या 21 जनवरी, शनिवार को है। वसंत पंचमी का पर्व 26 जनवरी, गुरुवार को है। माघ पूर्णिमा का पर्व पांच फरवरी, रविवार और महाशिवरात्रि का पर्व 18 फरवरी, शनिवार को मनाया जाएगा।

 

Check Also

उत्तराखंड: 35-40 साल की सेवा के बाद बिना पदोन्नति रिटायर हो रहे शिक्षक

शिक्षा विभाग में शिक्षक 35 से 40 साल की सेवा के बाद बिना पदोन्नति सेवानिवृत्त …