Sunday , June 16 2024

मध्य प्रदेश: इस वजह से महिला टीचर ने की अपनी संपत्ति हनुमान मंदिर के ट्रस्ट के नाम, जानें वजह

मध्य प्रदेश के श्योपुर जिले में महिला टीचर ने अपने पति और बेटों के व्यवहार से आहत होकर अपनी संपत्ति हनुमान मंदिर के ट्रस्ट के नाम पर कर दी। ट्रस्ट में दान करने से पहले टीचर ने अपने दो बेटों को उनके हक की संपत्ति दे दी और फिर बची हुई लगभग एक करोड़ रुपए की संपत्ति को मंदिर ट्रस्ट के नाम कर दिया है। महिला ने बताया कि उसने अपनी बीमा पॉलिसी के साथ सारी चल-अचल संपत्ति को मंदिर ट्रस्ट के नाम पर वसीयत कर दिया है। उनके मरने के बाद सारी संपत्ति मंदिर ट्रस्ट के नाम पर हो जाएगी।
अपना घर भी किया ट्रस्ट के नाम महिला टीचर ने बताया कि वो जिस घर में रहती हैं उसे भी मंदिर ट्रस्ट के नाम पर वसीयत कर दिया है। उन्होंने कहा कि, वो जब तक जिंदा हैं, तब तक घर में रहेंगी और उनके मरने के बाद उनकी सारी प्रॉपर्टी के साथ ही घर भी मंदिर ट्रस्ट के नाम पर चला जाएगा। महिला ने यह भी कहा कि उनके मरने के बाद अंतिम संस्कार उनके बेटों के बजाय मंदिर ट्रस्ट के लोगों द्वारा ही किया जाना चाहिए। बचपन से भगवान के प्रति समर्पण शिव कुमारी जादौन बचपन से ही भगवान के प्रति श्रद्धा और भक्ति में लीन रही हैं। उन्होंने बताया कि उनके बेटे ठीक नहीं हैं। बेटे को अपराधिक प्रवृत्ति का बताते हुए टीचर ने बताया कि, उनके बेटों के साथ ही पति भी अच्छा व्यवहार नहीं करता है। इसी कारण से वो अपने नाम की सारी चल-अचल संपत्ति मंदिर ट्रस्ट के नाम पर कर दी है।  

Check Also

NEET पेपर लीक की सीबीआई जांच की अर्जी पर क्या बोला सुप्रीम कोर्ट?

न्यायमूर्ति विक्रम नाथ और न्यायमूर्ति संदीप मेहता की अवकाश पीठ हितेन सिंह कश्यप की तरफ …