Thursday , April 18 2024

उज्जैन में दर्दनाक हादसा, बिजली का पोल गिरने से हुई दो मासूमों की मौत

उज्जैन जिले की घट्टिया तहसील में बुधवार देर रात ग्राम रलायता में उस समय हड़कंप मच गया जब बिजली का पोल गिरने से दो मासूमों की मौत हो गई। बच्चे घर के बाहर बैठकर पढ़ाई कर रहे थे, इसी दौरान यह घटना हुई। हादसे के बाद परिजन बच्चों को अस्पताल लेकर पहुंचे तो डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद से ग्रामीणो में काफी आक्रोश देखा गया। सूचना मिलते ही उज्जैन एसडीएम संजीव साहू ओर डीएसपी संतोष कोल मौके पर पहुंचे ओर ग्रामीणों को समझाइश दी। ग्रामीण एक वर्ष से पोल को हटाने को लेकर आवेदन देते आ रहे हैं लेकिन विद्युत विभाग ने इसपर कोई ध्यान नहीं दिया। वही करणी सेना ने मृतकों के परिजनों को 25-25 लाख रुपये का मुआवजा देने की मांग की है। गुरुवार को उज्जैन अस्पताल से पोस्टमार्टम कराकर लौटे परिजनों ने उज्जैन आगर नेशनल हाईवे पर प्रदर्शन किया और चक्का जाम कर दिया। ग्रामीणों ने 25 लाख रुपये मुआवजा व दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है।
इस घटना के बाद समस्त ग्रामवासी इकट्ठा हो गए और बिजली कर्मचारियों व अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग करने लगे। सूचना मिलते ही एसडीएम और डीएसपी मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझाइश दी। ग्रामीणों का कहना है कि  इस विद्युत पोल को हटाने के लिए वो शिकायत करते आ रहे हैं जिसके आवेदनों की प्राप्ति भी उनके पास है लेकिन विद्युत विभाग के जिम्मेदारों ने एक नहीं सुनी। एसडीएम व डीएसपी पहुंचे घटना की सूचना मिलते ही देर रात एसडीएम संजीव साहू व डीएसपी संतोष कोल, थाना प्रभारी विक्रम सिंह चौहान के साथ घटनास्थल पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों को हर संभव मदद का आश्वासन भी दिया। करणी सेना ने उठाई मुआवजे की मांग सूचना मिलते ही करणी सेना के सदस्य शैलेंद्र सिंह झाला जिला अस्पताल पहुँचे। उन्होंने करणी सैनिकों के साथ अस्पताल का घेराव भी किया। करणी सेना ने प्रशासन से मृतकों को 25 25 लाख मुआवजा देने की भी मांग की है। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि प्रशासन ध्यान नहीं देता है तो उज्जैन आगर रोड पर चक्का जाम किया जाएगा। साथ ही विद्युत विभाग के जिम्मेदारों पर कार्रवाई की भी मांग की गई है।

Check Also

चुनाव आयोग ने दिए मुर्शिदाबाद के DIG को हटाने के निर्देश

चुनाव आयोग ने बताया कि एक मार्च से अबतक हर दिन 100 करोड़ रुपये जब्त …