Saturday , May 25 2024

चुनाव से पहले बुंदेलखण्ड एक्सप्रेस का भी तोहफा दे सकती है योगी सरकार, आज अवनीश अवस्थी ने फिर लिया जायज़ा, छोटे-मोटे काम जल्द कराने के आदेश

पूर्वांचल एक्सप्रेस के बाद यूपी चुनाव से पहले योगी सरकार बुंदेलखण्ड एक्सप्रेस वे का भी तोहफा दे सकती है। इसी के चलते अधिकारियों से काम में तेजी लाने के निर्देश दे दिए गए हैं। आज अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी सुबह हेलीकाप्टर से निर्माणाधीन बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे पर उतरे। काम करवा रहे अधिकारियों को निर्देश दिए कि एक्सप्रेस वे का निर्माण जल्द पूरा कराएं। उन्होंने कहा कि इसके लिए मैन पावर और संसाधन जो भी बढ़ाना पड़े बढ़ाएं क्योंकि यह काम सरकार की उच्च प्राथमिकता में शामिल है।
बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे की शुरुआत भगवान राम की तपोभूमि धर्मनगरी चित्रकूट के भरतकूप स्थित गोंडा गांव के पास से हुई। शिलान्यास खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आकर किया था। बुंदेलखंड के चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन को जोड़ते हुए यह एक्सप्रेस वे इटावा के पास जुड़ेगा। इसकी लंबाई लगभग 305 किमी है। करीब 15 हजार करोड़ की लागत से बन रहे बुंदेलखंड एक्सप्रेस की सड़क लगभग बनकर तैयार हो चुकी है। केवल पुलों का निर्माण होना बाकी है। चित्रकूट जिले में एक्सप्रेस पर गोंडा के पास हाईवे व रेलवे लाइन में ओवरब्रिज के अलावा बागेन नदी में पुल निर्माण का काम चल रहा है। माना जा रहा है कि सरकार बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे को आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर आचार संहिता जारी होने के पहले चालू करने के प्रयास में है। फलस्वरूप अब कार्य में तेजी लाई जा रही है। अगले माह दिसंबर तक खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आने की संभावना है, जिसमें वह इसका लोकार्पण कर सकते है। हालांकि अभी निर्माणाधीन पुलों का काम पूरा होने में समय लग सकता है। इसी को देखते हुए अब प्रदेश सरकार ने तेजी पकड़ी है। आज सुबह प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने हेलीकाप्टर से आकर बुंदेलखंड एक्सप्रेस का जायजा लिया। उन्होनें अब तक बनी सड़क की गुणवत्ता के साथ ही निर्माणाधीन पुलों को देखा। अधिकारियों से निर्माण के संबंध में जानकारी ली। निर्देश दिए कि कार्य में तेजी लाने के लिए मैन पावर को बढ़ाया जाए। एक्सप्रेस वे का निर्माण हर हालत में समय से पूरा करना है। इसके चालू होने से धर्मनगरी चित्रकूट सीधे दिल्ली से जुड जाएगी और यहां का पर्यटन विकास तेजी से होगा। अपर मुख्य सचिव ने अधिकारियों के साथ बैठक भी की। निरीक्षण के दौरान डीएम शुभ्रांत कुमार शुक्ल, एसपी धवल जायसवाल, एडीएम अरविंद सिंह के अलावा कार्यदाई संस्था यूपीडा के अधिकारी मौजूद रहे।

अपर मुख्य सचिव गृह के आगमन को देखते हुए शनिवार को DM शुभ्रांत कुमार शुक्ल और SP धवल जायसवाल ने बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का औचक निरीक्षण किया था। दोनों अफसरों ने निर्माण कार्यों को देखा था।

Check Also

विदेश मंत्री के बयान पर कर्नाटक के गृह मंत्री ने दी प्रतिक्रिया

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने खुलासा किया कि विदेश मंत्रालय (एमईए) को 21 मई को …