Saturday , May 18 2024

पहले जिन्ना का समर्थन अब ‘चिलमजीवी’ वाले बयान पर घिरे अखिलेश, संत समाज बोला- माफी मांगें एसपी अध्यक्ष, अखिलेश ने गाज़ीपुर में योगी पर हमला किया था

अपने मुसलिम वोट बैंक को खुश करने के लिए समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पहले जिन्ना के समर्थन में बयान दिया। अब उन्होंने बिना नाम लिए योगी आदित्यनाथ के खिलाफ अपशब्द कहकर हंगामा मचा दिया। गाजीपुर में दिए अखिलेश के चिलमजीवी बयान को लेकर सियासत गर्मा गई है। संत समाज ने अखिलेश यादव के इस बयान का विरोध शुरू कर दिया है। अखिल भारतीय संत समिति ने अखिलेश यादव से उनकी चिलमजीवी टिप्पणी पर माफी मांगने को कहा है।

आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को गाजीपुर से विजय रथयात्रा की शुरुआत के मौके पर कई विवादित बातें कहीं थीं। उन्होंने बिना किसी का नाम लिये कहा था कि ‘एक रंग वाले चिलमजीवी कभी यूपी को खुशहाली के रास्ते पर नहीं ले जा सकते’।

इस पर संत समाज का कहना है कि सनातन परंपरा के अनुसार, यूपी के सीएम एक सम्मानित और सम्मानित मठ के पीठाधीश्वर हैं। भारत में प्राचीन काल से ही धर्म हमेशा कानून के शासन से ऊपर रहा है। सिर्फ इसलिए कि एक संत को मुख्यमंत्री पद दिया गया, किसी को भी उसे गंदी राजनीति का शिकार बनाने का अधिकार नहीं है, उन्हें निशाना बनाने के लिए संत समाज को लेकर कोई आपत्तिनक और निम्न स्तरीय टिप्पणी नहीं की जानी चाहिए। 

स्वामी जितेंद्रानंद सरस्वती ने कहा कि अखिलेश यादव और उनके प्रवक्ताओं को संतों का अपमान करने के लिए पूरे संत और सनातन समाज से तुरंत माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर अखिलेश यादव माफी नहीं मांगते हैं तो संत समाज पूरे देश में सक्रिय रूप से घर-घर जाकर उनके खिलाफ जन समर्थन की अपील करेगा। 

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को गाजीपुर से विजय रथयात्रा के चौथे चरण का शुभारंभ किया था। रथ लेकर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर चढ़ते ही अखिलेश ने जबरदस्त हमला बोला था। अखिलेश ने बिना किसी का नाम लिये कहा था कि एक रंग वाले चिलमजीवी कभी यूपी को खुशहाली के रास्ते पर नहीं ले जा सकते।

अखिलेश यादव ने कहा था कि इस गाजीपुर से उस गाजीपुर बार्डर (जहां किसान आंदोलन चल रहे हैं) तक अगले विधानसभा चुनाव मे बदलाव होगा। हर वर्ग के लोग बदलाव चाहते हैं। आज तो यह शुरुआत है, फिर एक बार सभा होगी। ऐतिहासिक सभा होगी। अखिलेश ने लोगों के हुजूम में लहराते झंडों की ओर इशारा करते हुए कहा था कि यहां लाल, पीला, हरा, नीला हर रंग का इंद्रधनुष दिखाई दे रहा है। भगवा रंग पर हमला करते हुए कहा था कि एक रंग वाले किसी के जीवन में रंग नहीं ला सकते। हम समाजवादी लोग सभी रंग वालों को साथ लेकर चलते हैं। एक रंग वाले चिलमजीवी कभी उत्तर प्रदेश को खुशहाली के रास्ते पर नहीं ले जा सकते हैं। 

Check Also

वाराणसी में दो दिन बाद हीट वेव का अलर्ट जारी

गर्मी ने अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। दो दिन बाद हीट वेव …